नई दिल्ली: कड़ी प्रतिस्पर्धा के चलते देश की बड़ी टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन-आइडिया और एयरटेल ने सोमवार को मोबाइल सेवाओं की दरें बढ़ाने की घोषणा की है. इस मामले पर वोडाफोन-आइडिया ने कहा कि वित्तीय संकंट के चलते 1 दिसंबर से मोबाइल सेवाओं की दरें बढ़ाई जाएंगी. वहीं, दूसरी ओर एयरटेल भी दिसंबर से मोबाइल सेवाओं की दरों को बढ़ाएगा. एक बयान में वोडाफोन आइडिया ने कहा- ” अपने ग्राहकों को विश्वस्तरीय डिजिटल अनुभव देने करने के लिए कंपनी एक दिसंबर 2019 से अपने टैरिफ के दामों में बढ़ोतरी करेगी. ” हालांकि कंपनी ने अभी इस बात की कोई जानकारी नहीं दी है कि वह टैरिफ में कितनी फीसदी की बढ़ोतरी करेगी.

कंपनी को हाल ही में हुआ करीब 50,921 करोड़ का नुकसान

बता दें कि कंपनी को हाल ही में करीब 50,921 करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा है. 30 सितंबर को खत्म हुई दूसरी तिमाही में वोडाफोन-आइडिया सबसे ज्यादा नुकसान उठाने वाली भारतीय कॉर्पोकेट कंपनी बन गई है. वहीं जून तिमाही में भी कंपनी को 4,873.9 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था. वहीं, भारती एयरटेल ने चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 23,045 करोड़ रुपए का घाटा दर्ज किया.

पिछले साल 31 अगस्त को हुआ था वोडाफोन- आइडिया का विलय

गौरतलब है कि रिलायंस जियो के आने से टैरिफ की मार झेलने के बाद वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर ने दूरसंचार कारोबार के विलय का फैसला किया था. इस विलय के साथ पिछले साल 31 अगस्त को अस्तित्व में आई संयुक्त इकाई वोडाफोन – आइडिया 40.8 करोड़ मोबाइल ग्राहकों के साथ देश की सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी बनी थी. हालांकि, इस विलय के बाद भी कंपनी की वित्तीय दिक्कतें दूर नहीं हुईं और विलय के बाद उसे 10 करोड़ से ज्यादा मोबाइल ग्राहकों का नुकसान हुआ.

95 प्रतिशत तक घटी मोबाइल डाटा की कीमत- TRAI

भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण के मुताबिक , मोबाइल डेटा की कीमत 95 प्रतिशत घटकर 11.78 रुपए प्रति गीगाबाइट (जीबी) पर आ गई है. वोडाफोन – आइडिया ने कहा कि उसके पास सबसे ज्यादा स्पेक्ट्रम है और अपने नेटवर्क के एकीकरण को तेज करके कंपनी तेजी से अपनी पहुंच (कवरेज) और क्षमता दोनों को बढ़ा रही है. कंपनी ने कहा , ” वोडाफोन – आइडिया नई प्रौद्योगिकी और नए उत्पाद / सेवा को पेश करके अपने 30 करोड़ से अधिक ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने के लिए सक्रिय रूप से निवेश करना जारी रखेगी. “