Also Read - CBI ने 5 करोड़ रुपये की रिश्वत मांगने के आरोप में दो GST अधिकारियों पर मामला दर्ज किया

नई दिल्ली, 19 दिसम्बर | केंद्र सरकार द्वारा प्रस्तावति वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) केंद्र और राज्य सरकार दोनों के लिए हितकर है। यह बात शुक्रवार को केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कही। विनियोग विधेयक पर हुई संक्षिप्त बहस के बाद जेटली ने कहा, “जीएसटी केंद्र और राज्य दोनों के लिए लाभकारी है। जीएसटी एक महत्वपूर्ण कानून है और इस अकेले कानून से पूरा देश एक बाजार बन जाएगा और (बाजार को) एक कर के बाद दूसरे कर के जंजाल से मुक्ति मिल जाएगी।” Also Read - Watch: राहुल गांधी का मोदी सरकार पर हमला, बोले- जीएसटी ने अर्थव्यवस्था का सर्वनाश कर दिया

रुपये के अवमूल्यन पर सांसदों की चिंता का जवाब देते हुए जेटली ने कहा, “पिछले कुछ दिनों से उभरते बाजारों में उतार-चढ़ाव देखा जा रहा है। जहां तक उभरते बाजार की बात है तो एक गंभीर चुनौती सामने है, फिर भी दूसरे कई देशों की मुद्रा के मुकाबले रुपये का प्रदर्शन बेहतर है।” उन्होंने तेल में गिरावट का लाभ उपभोक्ताओं तक नहीं पहुंचने देने के विपक्ष के आरोप को भी खारिज कर दिया। Also Read - कार लेने का कर रहे हैं प्लान तो कुछ दिन और करें इंतजार, कम होंगी कीमतें, सरकार ने दिए संकेत

उन्होंने कहा, “हमने पहले ही आठ बार पेट्रोल और डीजल की कीमतें घटाई हैं। कर मत लीजिए और खर्चा करते रहिए यह कहना काफी आसान है। यदि आप चाहते हैं मैं सामाजिक कल्याण के लिए कुछ खर्च करूं, तो किसी को इसका खर्च तो उठाना होगा।”