देश के कई बैंक अपर्याप्त बैंलेस के कारण एटीएम से ट्रांजैक्शन फेल होने ग्राहकों से शुल्क वसूलते हैं. इसका मतलब है कि ग्राहकों को अपर्याप्त बैलेंस के कारण असफल रहने वाले हर लेनदेन के लिए अतिरिक्त राशि का भुगतान करना पड़ता है.Also Read - रुपए नहीं चुरा पाए तो पूरा ATM ही उखाड़कर ले गए चोर, मशीन में 35 लाख की करेंसी थी

हालांकि, यह एक नया नियम नहीं है, ऐसे कई दैनिक उदाहरण हैं जहां ग्राहक अपर्याप्त बैलेंस कारण पैसे निकालने में विफल रहते हैं. इसलिए, एटीएम से निकासी करने से पहले अपने बैलेंस के बारे में जरूर जानकारी कर लें. इससे बैंकों को चार्ज देने से आप बच जाएंगे. Also Read - ICICI Bank Share Price: दूसरी तिमाही की अर्निंग्स के बाद ICICI बैंक के शेयर की कीमत 12% बढ़ी, जानें- क्या है ब्रोकरेज की राय?

एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, यस बैंक सहित देश के अन्य बैंक अपर्याप्त बैंसंतुलन के कारण हर असफल लेनदेन के लिए शुल्क लेते हैं. भारतीय स्टेट बैंक अपर्याप्त संतुलन के कारण किसी भी असफल एटीएम लेनदेन के लिए 20 रुपये से अधिक जीएसटी का शुल्क लेता है. Also Read - ICICI Bank Latest News: चालू वित्तवर्ष की दूसरी तिमाही में ICICI बैंक का सालाना शुद्ध लाभ 30 फीसदी बढ़ा

एचडीएफसी के ग्राहकों के लिए, बैलेंस की कमी के कारण एटीएम लेनदेन केवल अन्य बैंकों के एटीएम पर लागू होता है. यह राशित 25 रुपये है. ICICI बैंक भी HDFC के नियम का पालन करता है.

इस बीच, खाता कम होने के कारण असफल एटीएम लेनदेन के लिए कोटक महिंद्रा बैंक और यस बैंक 25 रुपये लेते हैं. अपर्याप्त धन के कारण अन्य बैंकों के एटीएम में लेनदेन के लिए एक्सिस बैंक 25 रुपये का फ्लैट चार्ज वसूलता है.