नई दिल्ली: देशभर में एक्सिस बैंक के 15 हजार कर्मचारियों ने कुछ महीनों में बैक की नौकरी से इस्तीफा दे दिया है. इकोनॉमिक टाइम्स की खबर के मुताबिक, इस इस्तीफे के पीछे की मुख्य वजह बैंक में हो रहे बदलाव को बताया गया है. बताया गया है कि मैनेजमेंट के बदलने के कारण ऑपरेशन्स में बदलाव किया जा रहा है. इसी वजह से बैंक कर्मियों को काम करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था. इसी कारण एग्जीक्यूटिव लेवल के बैंक कर्मचारियों ने अपनी नौकरी से इस्तीफा दे दिया. Also Read - MNREGA: मनरेगा बना ग्रामीणों का सहारा, सात लाख नए लोगों को मिला रोजगार

खबर में बताया गया है कि नया मैनेजमेंट बैंक की ग्रोथ को बढ़ाने के लिए ब्रांच के काम काज में बदलाव कर रहा है. आपको बता दें कि साल 2019 के जनवरी महीने में शिखा शर्मा ने एक्सिस बैंक के एमडी और सीईओ का पद छोड़ दिया था. इसके बाद अमिताभ चौधरी को बैंक का नया सीईओ बनाया गया है. Also Read - Rajasthan: चित्तौड़गढ़ में एक्सिस बैंक में डकैती, 40 लाख से ज्यादा की लूट

वरिष्ठ कर्मचारी बैंक इसलिए छोड़ रहे हैं क्योंकि बैंक में आधुनिक जमाने के कई तरह के बदलाव किए जा रहे हैं. हालांकि बैंक अभी नए लोगों को भर्ती करने पर जोर दे रही हैं. बता दें कि बैंक के ऑपरेशनों में बदलाव किया जा रहा है. इस बदलाव के साथ बैंक में काम करने वाले कर्मचारी काम के साथ खुद को असहज महसूस कर रहे हैं. कई कर्मचारियों को उनके रोल यानी उनके काम को लेकर चिंता हैं. Also Read - SBI, HDFC, Axis Bank, PNB और ICICI Bank के ग्राहक हो जाएं सावधान, हो सकते हैं फ्रॉड का शिकार

खबर के अनुसार एक्सिस बैंक ने चालू वित्त वर्ष में 28 हजार लोगों को नौकरी पर रखा है. इस मामले पर अमिताभ चुौधरी ने कहा कि रेगुलेटरी की मंजूगी मिलने के बाद इंश्योरेंस की दुनिया में कदम रखेंगे. हमारा बैंक इंश्योरेंस का बड़ी डिस्ट्रीब्यूटर है. गौरतलब है कि आरबीआई की तरफ से रेगुलेटरी में बदलवा किया गया है.