रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (Reserve Bank of India) ने गैर-बैंकिंग वित्‍तीय सेवाएं देने वाली कंपनी बजाज फायनेंस (Bajaj Finance) पर 2.5 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है. बजाज फायनेंस (Bajaj Finance) पर यह जुर्माना ग्राहको के साथ बदसलूकी करने के आरोप की वजह से लगया गया है.Also Read - RBI Monetary Policy Review: आरबीआई ने दरों ने नहीं किया कोई बदलाव, GDP ग्रोथ अनुमान 9.5 फीसदी पर कायम

बता दें, कंपनी पर ग्राहकों के साथ गलत तरीके इस्तेमाल करके वसूली करने का आरोप लगाया गया है. बजाज फायनेंस जो तरीका अपनाकर ग्राहकों से वसूली करता है. वह नियामक के नियमों के खिलाफ है. Also Read - Repo Rate, Inflation: आरबीआई आज जारी करेगा मौद्रिक नीति, जानिए- सेंट्रल बैंक से क्या हैं उम्मीदें?

ग्राहकों की शिकायतों के बाद आरबीआई ने चलाया चाबुक Also Read - क्या आपके पास भी है RBI की हरी पट्टी गांधीजी की तस्वीर के पास वाले 500 के नोट?

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने बताया कि बजाज फायनेंस (Bajaj Finance) के खिलाफ ग्राहकों की कई शिकायतें मिली थीं. बजाज फायनेंस (Bajaj Finance) के खिलाफ बकाया पैसों की रिकवरी और कलेक्‍शन करने में गलत तरीके इस्तेमाल करने के आरोप लगाए जा रहे थे. जिसकी हमें लगातार शिकायतें मिल रही थीं. जिसके बाद RBI ने बजाज फायनेंस पर कार्रवाई की है. Bajaj Finance के खिलाफ निष्पक्ष व्यवहार संहिता (FPC) के उल्लघंन की शिकायतें भी मिली थीं. ऐसे में कंपनी पर रेगुलेटरी नियमों का उल्‍लंघन करने के लिए यह जुर्माना लगाया गया है.