नई दिल्ली: बैंक ऑफ बड़ौदा ने मंगलवार को एक साल की सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (एमसीएलआर) 0.05 प्रतिशत कम कर 8.25 प्रतिशत कर दी है. नई दरें बृहस्पतिवार से प्रभावी होंगी. आवास और वाहन जैसे ज्यादातर व्यक्तिगत कर्ज एक साल की एमसीएलआर पर ही आधारित होते हैं. बैंक ऑफ बड़ौदा ने शेयर बाजारों को दी सूचना में कहा, ‘‘… बैंक ने एमसीएलआर आधारित ब्याज दर को संशोधित किया है. नई दरें 12 दिसंबर से प्रभावी होंगी.’’ बैंक ने एक दिन से छह महीने की अवधि के कर्ज पर एमसीएलआर कम कर 7.65 से 8.10 प्रतिशत रखी है.

दिल्ली में घटी प्याज की कीमत, जानिए आजदपुर मंडी में आज का रेट

इससे पहले, सोमवार को देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने एक साल की एमसीएलआर 0.10 प्रतिशत घटाकर 7.90 प्रतिशत कर दी. यह दर 10 दिसंबर 2019 से लागू होगी. स्टेट बैंक ने लगातार आठवीं बार एमसीएलआर में कटौती की है. चालू वित्त वर्ष में एसबीआई ने MCLR में लगातार आठवीं बार कटौती की है. एसबीआई ने बयान में कहा, ‘‘कोष की घटती लागत का लाभ ग्राहकों को देने के लिए हमें एमसीएलआर 0.10 प्रतिशत की कटौती करने का फैसला किया है.’’

इसके अलावा बैंक ऑफ इंडिया ने भी एक साल की एमसीएलआर 8.30 प्रतिशत से घटाकर 8.20 प्रतिशत करने की घोषणा की है. रिजर्व बैंक ने पिछले सप्ताह मौद्रिक नीति समीक्षा में रेपो दर को 5.15 प्रतिशत पर बरकरार रखा है.