नई दिल्लीः बैंक देशभर के 250 जिलों में बृहस्पतिवार से ‘लोन मेले’ के प्रथम चरण की शुरुआत करेंगे. खुदरा ग्राहकों और लघु एवं मध्यम उद्योगों को तेजी से ऋण उपलब्ध कराने के लिए मेले के दौरान बैंक विशेष अभियान चलाएंगे ताकि त्यौहारी मौसम की मांग को पूरा किया जा सके. ऋण मेले का पहला चरण तीन अक्टूबर से शुरु होकर चार दिन तक चलेगा. इसमें खुदरा, कृषि, वाहन, आवास, लघु एवं मध्यम उद्योग, शिक्षा और निजी श्रेणी के ऋणों को वास्तविक समय में ही उपलब्ध करा दिया जाएगा.

त्योहारी सीजन में उपभोक्ताओं पर महंगाई की मार, इन चीजों के दामों में हुआ इजाफा

भारतीय स्टेट बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा और कॉरपोरेशन बैंक समेत सभी बैंकों ने इस त्यौहारी मांग का लाभ उठाने के लिए खुद को तैयार कर लिया है. पहले चरण में शामिल 250 जिलों में से 48 जिलों में भारतीय स्टेट बैंक और 17 में बैंक ऑफ बड़ौदा मुख्य बैंक है. बैंक ऑफ बड़ौदा ने एक बयान में कहा कि इसी के साथ-साथ वह अपनी अधिकतर शाखाओं पर ‘बड़ौदा किसान पखवाड़ा’ भी आयोजित करेगा जिसमें पूरा ध्यान कृषि ऋणों पर होगा.

वैष्णो देवी जाने वाले श्रद्धालु इतने रुपए में कर सकेंगे वंदे भारत एक्सप्रेस की यात्रा, बुकिंग शुरू

पिछले माह की शुरूआत में सरकारी बैंकों ने अपने वार्षिक प्रदर्शन का आकलन करने के बाद 400 जिलों में ऋण मेला आयोजित करने का निर्णय किया है. बाद में निजी क्षेत्र के बैंकों ने भी इस पहल में शामिल होने की इच्छा जताई है. बैंकों की इस पहल से लोगों को लोन लेने में काफी सहूलियत होने वाली है. अब यह देखना होगा कि बैंक किस प्रकार से अधिक से अधिक ग्राहकों को इसका लाभ दे पाता है.