सरकार ने रविवार को रक्षा क्षेत्र की कंपनी BEML में प्रबंधन नियंत्रण के हस्तांतरण के साथ 26 फीसदी हिस्सेदारी की रणनीतिक बिक्री के लिए प्रारंभिक बोलियां आमंत्रित की हैं.Also Read - UPSC Recruitment 2021: संघ लोक सेवा आयोग में निकली बंपर भर्ती, 7वें वेतन के हिसाब से मिलेगी सैलरी

DIPAM के सचिव तुहिन कांत पांडे ने ट्वीट किया, “सरकार ने प्रबंधन नियंत्रण के हस्तांतरण के साथ BEML लिमिटेड की 26 फीसदी इक्विटी शेयर पूंजी के विनिवेश के लिए PIM/EOI जारी किया है.” Also Read - भारत ने 2014 से अब तक 35,777 करोड़ रुपये का रक्षा निर्यात किया, 84 से ज्यादा देशों को भेजे रक्षा उपकरण

Also Read - रक्षा मंत्रालय ने दिए राहुल गांधी के सवालों के जवाब, कहा- भारत ने किसी भी क्षेत्र को नहीं सौंपा, फिंगर आठ तक गश्त कर रही सेना

निवेश विभाग और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन (DIPAM) द्वारा जारी प्रारंभिक सूचना ज्ञापन (PIM) के अनुसार, कोई भी 1 मार्च तक BEML में हिस्सेदारी खरीदने के लिए अपनी अभिव्यक्ति की रुचि (EoI) जमा कर सकते हैं.

मौजूदा बाजार मूल्य पर, 26 फीसदी की बिक्री से सरकारी खजाने को लगभग 1,000 करोड़ रुपये मिल सकते हैं. बीईएमएल के शेयर शुक्रवार को 974.25 रुपये पर बंद हुए.

बता दें, बीईएमएल रक्षा, रेल, बिजली, खनन और बुनियादी ढांचे जैसे क्षेत्रों में शामिल है.

वित्त वर्ष 2019-20 में परिचालन से कंपनी का कुल राजस्व 3,028.82 करोड़ रुपये था.

एसबीआई कैपिटल मार्केट्स को बीईएमएल के प्रस्तावित रणनीतिक विनिवेश की सलाह और प्रबंधन के लिए भारत सरकार (जीओआई) द्वारा सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया है.

31 मार्च, 2020 तक BEML के पास 9,795 करोड़ रुपये की ऑर्डर बुक है.

गौरतलब है कि सरकार ने प्रबंधन नियंत्रण के हस्तांतरण के साथ रणनीतिक बिक्री के माध्यम से बीईएमएल की 26 फीसदी हिस्सेदारी का विनिवेश करने का फैसला किया है. सरकार के पास कंपनी में 54.03 फीसदी हिस्सेदारी है.