Budget 2019: मोदी सरकार ने दिल खोलकर मध्यम वर्ग को खुशियां दी हैं. खासतौर से आयकरदाताओं की ओर जिस तरह से मोदी सरकार ने बजट का पिटारा खोला है, वह मंत्रमुग्ध करने वाला है. सरकार ने आज बजट के जरिये उनकी झोली खुशियों से भर दी है, जो सबसे ज्यादा निराश थे.

अंतरिम बजट में मोदी सरकार ने टैक्स की सीमा 2.5 से बढ़ाकर 5 कर दिया है. यानी सालाना 5 लाख की आय वाले कर्मियों को टैक्स देने की जरूरत नहीं होगी. अगर आप अच्छी तरह निवेश करें तो आपको 6.5 लाख रुपये तक की छूट प्राप्त हो सकती है. इसका लाभ 3 करोड़ मध्यम वर्गीय कर्मियों को होगा.

इससे पहले साल 2014 में आयकर छूट की सीमा बढ़ाकर 2 से 2.5 लाख कर दी गई थी. वहीं साल 2012 में प्रणब मुखर्जी ने आयकर छूट की सीमा को 1.8 लाख रुपये से बढ़ाकर 2 लाख किया था.

Budget 2019: इतिहास में पहली बार 5 लाख तक की इनकम TAX फ्री, 40 हजार ब्‍याज पर TDS नहीं

इस बार मोदी सरकार ने खुश होने की दीं इतनी वजहें:

1. टैक्स छूट की सीमा 2.5 लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये किया गया.
2. 40 हजार रुपये पर मिलने वाले बैंक ब्याज पर TDS नहीं लगेगा.
3. नया घर बनाने वालों इनकम टैक्स में छूट मिलेगी.
4. डेढ़ लाख तक के निवेश पर कोई टैक्स नहीं होगा.
5. नया घर बनाने वालों इनकम टैक्स में छूट मिलेगी.
6. स्टैंडर्ड डिडक्शन 40 हजार से बढ़ाकर 50 हजार हुआ.
7. नई कंपनियों को 25 फीसदी कॉरपोरेट टैक्स देना होगा.
8. 24 घंटे में IT रिटर्न की प्रोसेस पूरी होगी.
9. श्रमिक की मौत पर अब 2.5 लाख रुपये की बजाय 6 लाख रुपये मुआवाजा मिलेगा.
10. ग्रेच्युटी की सीमा को 10 लाख से बढ़ाकर 20 लाख किया गया.
11. प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन का ऐलान, 15 हजार कमाने वालों को मिलेगी पेंशन.
12. श्रमिकों को अब 7000 रुपये तक बोनस मिलेगा.
13. 21000 प्रति माह कमाने वालों को मिलेगा बोनस.
14. किसान सम्मान निधि योजना के लिए 75 हजार करोड़. समय से लोन चुकाने वाले मछुवारों और पशुपालन करने वालों को छूट मिलेगी.
15. किसान क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करने वालों को लाभ मिलेगा.
16. किसानों के लिए 20 हजार करोड़ रुपए का ऐलान.
17. 2 हेक्टेयर जमीन वाले छोटे किसानों के खाते में हर साल 6000 रुपये आएंगे. तीन किस्तों में किसानों को मिलेगा योजना का लाभ. 1 दिसंबर 2018 से लागू होगी स्कीम.