Budget 2019 में बचत पर बड़ी राहत दी गई है. सेविंग्‍स पर अगर 40 हजार तक का ब्‍याज मिल रहा है तो टीडीएस अब नहीं देना होगा.

इसका सीधा मतलब ये है कि बचत पर मिलने वाल ब्‍याज का पूरा फायदा आपको मिल पाएगा.

क्‍या होगा असर
अगर आप किसी बैंक के फिक्‍स डिपॉजिट या पोस्‍ट ऑफिस डिपॉजिट में पैसा रखते हैं तो इसका पूरा लाभ आप ले सकेंगे. यानी सरकार को टैक्‍स नहीं देना होगा. वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने 2019-20 का बजट लोकसभा में पेश करते हुए कहा कि इससे उन वरिष्ठ लोगों तथा छोटे जमाकर्ताओं को फायदा होगा जो बैंकों एवं डाकघरों की जमाराशि के ब्याज पर निर्भर करते हैं. अभी तक ये जमाकर्ता 10 हजार रुपये प्रति वर्ष तक की ब्याज आय पर कटे कर का रिफंड मांग सकते थे.

अभी तक क्‍या था नियम
60 साल की उम्र तक अगर आप सेविंग्‍स पर 10 हजार से अधिक का ब्‍याज ले रहे हैं तो उस पर टैक्‍स भरना होता था.

टैक्‍स स्‍लैब में बदलाव
टैक्‍स स्‍लैब में छूट की सीमा को बढ़ाकर 5 लाख सालाना कर दिया गया है. इसका मतलब ये है कि अगर आपकी इनकम 5 लाख रुपए सालाना है तो आपको कोई टैक्‍स नहीं देना होगा. बजट के दौरान वित्‍त मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि पीपीएफ और अन्‍य इन्‍वेस्‍टमेंट के जरिए आप 6.5 लाख सालान इनकम में भी जीरो टैक्‍स की श्रेणी में आ सकते हैं.