संसद में अंतरिम बजट पेश करने से पहले कई काम किए जाते हैं. ये काम ऐसे हैं, जो आज से नहीं बल्कि सालों से किए जा रहे हैं.Also Read - चाणक्यनीति, उर्दू शेर और तमिल कविता के प्रयोग से लेकर 'माफ़ी' तक, निर्मला के लिए यूं ख़ास रहा बजट

Also Read - अमेरिकी कॉरपोरेट जगत ने भारतीय बजट को सराहा, कहा- ये ‘एप्पल’ जैसी कंपनियों के लिए अच्छा है

Union Budget 2019 LIVE Streaming Hindi: वित्त मंत्री पीयूष गोयल पेश करेंगे अंतरिम बजट, लाइव स्‍ट्रीम यहां देखें Also Read - बजट पेश होने के बाद बढ़ी पेट्रोल-डीजल की कीमतें, पेट्रोल 2.45 रुपए तो डीजल 2.36 रुपए महंगा

जानें बजट की खास परंपराओं के बारे में-

– बजट पेश करने से पहले कोई जानकारी लीक ना हो, इसके खास तौर पर इंतजाम किए जाते हैं. हाई-टेक सर्विलांस के जरिए ये बात सुनिश्चित की जाती है.

– क्‍या आप जानते हैं कि बजट पेश करने से पहले हलवा सेरेमनी की जाती है. जी हां, हलवा बनाया जाता है. वित्त मंत्रालय में बजट के डॉक्यूमेंट्स की छपाई 1 हफ्ते पहले शुरू हो जाती है. जिसके बाद हलवा समारोह के माध्‍यम से इसे हरी झंडी दिखाई जाती है. इस हलवे को वित्त मंत्री को ओर से वित्‍त मंत्रालय के अधिकारी और कर्मचारी में बांटा जाता है.

– पहले बजट को फरवरी के लास्ट वर्किंग डे पर पेश किया जाता था. सालों तक ये पंरपरा चलती रही. पर साल 2017 से इसे 1 फरवरी को पेश किया जाने लगा.

– वित्‍त मंत्री के पास नीले रंग के कागज पर बजट के सभी दस्तावेजों के मुख्य बिंदु होते हैं.

क्‍यों हाथ में होता है सूटकेस

आपने हर साल बजट से पहले वित्‍त मंत्री के हाथ में एक सूटकेस देखा होगा. इसके पीछे एक कहानी है. ऐसा माना जाता है कि साल 1860 में ब्रिटेन के ‘चांसलर ऑफ दी एक्‍सचेकर चीफ’ विलियम एवर्ट ग्‍लैडस्‍टन फाइनेंशियल पेपर्स के बंडल को लेदर बैग में लेकर आए थे. तभी से यह परंपरा चली.