Budget 2021: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दिल्ली में आज आगामी आम बजट 2021-22 के संबंध में बुनियादी ढांचे, ऊर्जा और जलवायु परिवर्तन की जानी-मानी हस्तियों के साथ 11वां पूर्व बजट विचार-विमर्श किया. Also Read - UP: मेडिकल छात्र को आई लड़की की कॉल, मिलने गया तो हुआ अपहरण, डॉक्‍टर प‍िता से 70 लाख फिरौती मांगी

बता दें, 14 दिसंबर से विभिन्न हितधारकों के साथ वित्त मंत्री ने बजट पूर्व चर्चा शुरू की थी. कोरोना वायरस महामारी की वजह से ये बैठकें इस साल वर्चुअली की जा रही हैं. Also Read - SSB Head Constable Answer Key 2021 Released: SSB ने जारी किया हेड कास्टेबल का रिवाइज्ड Answer Key, ये है डाउनलोड करने का Direct Link

एक फरवरी को आम बजट 2021 पेश किया जाएगा. इसकी तैयारियों के लिए हर साल विभिन्न हितधारकों के साथ बैठकें करके चर्चा की जाती है. इसमें आगामी बजट के लिए सुझाव लिए जाते हैं.

इस साल कोरोना वायरस महामारी से देश की अर्थव्यवस्था प्रभावित हुई है. ऐसे में बजट का महत्व और भी बढ़ गया है. महामारी की वजह से सभी प्री-बजट मीटिंग्स वर्चुअली की जा रही हैं. सरकार ने आम लोगों से भी बजट 2021 के लिए सुझाव मांगे थे. इसके साथ ही बजट 2021-22 की चर्चाओं में लोगों की अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने MyGov प्लेटफॉर्म पर सुविधा उपलब्ध कराई गई थी.

वित्त मंत्री ने कहा था कि 2021-22 का बजट आर्थिक वृद्धि की गति को बनाए रखने पर केंद्रित होगा. इसके लिए बुनियादी ढांचे पर सार्वजनिक व्यय जारी रखने के साथ आर्थिक गतिविधियों की रफ्तार बनाए रखने पर जोर दिया जाएगा. उन्होंने यह भी कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण विनिवेश पर असर पड़ा है लेकिन उसकी गति आने वाले महीनों में तेज होगी.

गौरतलब है कि वित्त मंत्री ने उद्योग मंडल एसोचैम फाउंडेशन सप्ताह कार्यक्रम में कहा था कि हम निश्चित रूप से बुनियादी ढांचा क्षेत्र में सार्वजनिक व्यय की गति बनाए रखेंगे, क्योंकि यही एक तरीका है जिससे हम आश्वस्त होते हैं कि यह गुणक (व्यय का विभिन्न क्षेत्रों पर सकारात्मक प्रभाव) के तौर पर काम करेगा और अर्थव्यवस्था का पुनरुद्धार भरोसेमंद होगा. मैं इस बात को लेकर सजग हूं कि आगामी बजट में एक जीवंतता होगी जो अर्थव्यवस्था के पुनरुद्धार, भरोसेमंद उत्थान के लिए आवश्यक है.