नई दिल्ली. कैफे कॉफी डे (Cafe Coffee Day) के संस्थापक वीजी सिद्धार्थ (V.G. Siddhartha) सोमवार से लापता हैं. मीडिया रिपोर्ट्स में इस बात का दावा किया गया है. वीजी सिद्धार्थ कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एसएम कृष्णा के दामाद हैं. पुलिस उनकी तलाश कर रही है. मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि सिद्धार्थ बिजनेस ट्रिप पर चिकमंगलूर गए थे. वहां से मेंगलुरू आने तक उनके बारे में लोगों को खबर थी. लेकिन मेंगलुरू के बाद सिद्धार्थ का कोई पता नहीं चल रहा है. उनका फोन भी सोमवार की रात से ही स्विच ऑफ है. ऐसे में अटकलों का बाजार गर्म हो गया है.Also Read - Coffee Day Enterprises: कॉफी डे एंटरप्राइजेज ने सेबी संग मामला निपटाने को 69 लाख रुपये का भुगतान किया

देश की सबसे बड़ी कॉफी चेन के संस्थापक के लापता होने की खबरों से कर्नाटक के उद्योग जगत में खलबली मच गई है. अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक वीजी सिद्धार्थ के लापता होने को लेकर अलग-अलग तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. अखबार ने लिखा है कि वीजी सिद्धार्थ के मेंगलुरू के पास स्थित उल्लाल ब्रिज से नदी में छलांग लगाने की खबरें आई हैं. दरअसल, मेंगलुरू पुलिस को उल्लाल ब्रिज से किसी व्यक्ति के नेत्रावती नदी में छलांग लगाने की सूचना मिली थी. पुलिस के अनुसार यह सूचना सोमवार रात करीब 9 बजे की थी. ठीक इसी समय से वीजी सिद्धार्थ के लापता होने की भी खबरें हैं. इस वजह से कहा जा रहा है कि सिद्धार्थ ने नदी में छलांग लगाकर जान देने की कोशिश की. Also Read - Cafe Coffee Day Shuts Outlets: कोरोना की मार, कैफे कॉफी डे ने 280 आउटलेट्स बंद किए

पुलिस ने एक कार चालक के हवाले से कहा है कि उल्लाल ब्रिज से किसी व्यक्ति के नदी में छलांग लगाने की सूचना पर तलाशी अभियान शुरू किया गया है. कार चालक ने उस व्यक्ति के सिद्धार्थ होने का दावा किया है. इसके बाद ही पुलिस ने नेत्रावती नदी और आसपास के इलाकों में सिद्धार्थ की तलाश शुरू की. मेंगलुरू पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि वीजी सिद्धार्थ सोमवार की रात करीब 8 बजे बेंगलुरू से यहां आए. उन्होंने अपने ड्राइवर को उल्लाल ब्रिज की ओर चलने को कहा. ब्रिज पर पहुंचने के बाद सिद्धार्थ कार से उतर गए और ड्राइवर से कुछ दूर आगे चलकर कार खड़ी करने को कहा. ड्राइवर के मुताबिक सिद्धार्थ ने कहा था कि वह टहलते हुए आएंगे, लेकिन नहीं लौटे. Also Read - वी.जी. सिद्धार्थ की मौत: विजय माल्या ने कहा, भारत की सरकारी एजेंसियां और बैंक, ''क्रूर- निर्दयी"

पुलिस ने कार ड्राइवर की दी गई इतनी जानकारी के आधार पर डॉग स्क्वॉयड और गोताखोरों की टीम को तलाशी अभियान पर लगा दिया है. कैफे कॉफी डे के संस्थापक के लापता होने की गंभीरता को समझते हुए पुलिस ने तलाशी अभियान में 200 लोगों की भारी-भरकम फौज लगाई है, जिसमें 25 गोताखोर शामिल हैं. पुलिस का तलाशी अभियान लगभग एक किलोमीटर लंबे उल्लाल ब्रिज और आसपास के इलाकों पर केंद्रित है, जहां वीजी सिद्धार्थ के लापता होने की आशंका है.