जयपुर: विश्‍व में फैली भयवाह कोरोना महामारी ने लोगों को जिंदगी के अपने बहुत से तौर-तरीके बदलने के लिए मजबूर कर दिया है. कोरोना वायरस संक्रमण महामारी के बीच वाहनों के संक्रमित होने की आशंका को देखते हुए प्रमुख कार कंपनियों ने वाहनों को सैनेटाइज व संक्रमण मुक्त करने की सेवा भी शुरू कर दी है.Also Read - महिंद्रा की शानदार Mahindra XUV700 कार हुई लॉन्च, बेहतरी फीचर्स से लैस कार की कैसे करें बुकिंग

जयपुर में महिंद्रा, हुंदै व मारुति नेक्सा के सर्विस सेंटर्स और वर्कशॉप ने ऐसी सेवाएं देनी शुरू की हैं, जिनकी लागत 175 रुपए से 1500 रुपए तक है. Also Read - Force Gurkha VS Mahindra Thar: फोर्स की गुरखा और महिंद्रा थार के बीच कड़ी टक्कर, जानें कौन सी आपके लिए है बेस्ट

प्रमुख वाहन कंपनी महिंद्रा के सीतापुरा स्थित वर्कशाप में वाहनों को संक्रमण मुक्त करने की सुविधा है. वर्कशाप के एक सर्विस मैनेजर के अनुसार गाड़ी/ मॉडल के हिसाब से इसका शुरुआती शुल्क 899 रुपए है. फिलहाल इसके लिए धूम्रीकरण (फ्यूमीगेशन) प्रक्रिया अपनाई जा रही है, जिसमें एक फोगिंग मशीन से पूरी गाड़ी के अंदर फोगिंग की जाती है ताकि वह संक्रमण मुक्त हो जाए. ऐसी ही सुविधा हुंडई ने भी शुरू की है, जिसका शुरुआती शुल्क 1000 रुपए है. Also Read - Mahindra Thar और Force Gurkha में कौन सी है आपके लिए बेस्ट, यहां जानें खासियत और जरूरी बातें

वहीं मारुति फिलहाल यहां केवल वाहन सैनेटाइज सेवा दे रही है. यहां नेक्सा सर्विस के प्रबंधक अनुज शर्मा के अनुसार वाहन को भीतर से व बाहर से सैनेटाइज करने की सेवा दी जा रही है, जिसका शुरुआत शुल्क 175 रुपये (कर अतिरिक्त) है। हालांकि, कंपनी ने गाड़ी को संक्रमण मुक्त करने की सेवा अभी यहां शुरू नहीं की है.

बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के लिए देश भर में जारी लॉकडाउन में ढील के बीच प्रमुख वाहन कंपनियों के डीलर व वर्कशॉप भी अब खुलने लगे हैं. हालांकि उनमें कड़े सुरक्षा उपाय अपनाए जा रहे हैं, ताकि वायरस संक्रमण नहीं फैले.

यूरोपीय वाहन कंपनी रेनौ इंडिया के एक प्रवक्ता ने कहा, ” रेनौ इंडिया ने अपने सभी परिसरों को पूरी तरह से धूम्रीकरण के बाद ही खोला है. इसके अलावा कर्मचारियों को स्क्रीनिंग के बाद ही काम पर ले रही है और ग्राहकों के लिए सैनेटाइजेशन व सोशल डिस्टेसिंग मानकों का पालन अनिवार्य है.

इस बीच वाहन डीलरों के शीर्ष संगठन ‘फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन’ (एफएडीए) ने कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर कर्मचारियों व ग्राहकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए विस्तृत परामर्श जारी किया है.

फेडरेशन ऑफ ऑटोमाबाइल डीलर्स एसोसिएशन ने देश भर में 15,000 से अधिक अपने सदस्य डीलरों को आगाह किया है कि अपने शोरूम व वर्कशाप में सुरक्षा के सभी प्रोटोकॉल अपनाएं ताकि किसी तरह की दिक्कत खड़ी नहीं हो.

संगठन के अध्यक्ष आशीष हर्षराज काले के अनुसार मौजूदा हालात में हमें और अधिक संवेदनशीलता व तत्परता से कदम उठाने होंगे ताकि कोरोना वायरस से उपजे संकट में ग्राहकों के भरोसे को फिर से बहाल किया जा सके. फेडरेशन ने डीलरों को लिए विस्तृत दिशा निर्देश जारी किए हैं, जिनमें एक शोरूम या वर्कशाप में आने व जाने वाले सभी वाहनों का धूम्रीकरण शामिल है.

उद्योग जगत के सूत्रों के अनुसार बदले हालात में वाहन कंपनियां अपनी प्रक्रिया के डिजिटलाइजेशन पर भी जोर दे रही हैं, जिसके तहत वाहन की टेस्ट ड्राइव से लेकर सर्विस तक की आनलाइन बुकिंग, बिल वगैरह ईमेल या व्हाटसएप पर भेजना शामिल है. वाहन कंपनियों ने अपने शोरूम व वर्कशाप में आने वाले सभी कर्मचारियों व ग्राहकों के लिए मास्क पहनना, सैनेटाइजर का इस्तेमाल अनिवार्य कर दिया है.