नई दिल्ली: देश में अब चीन के खिलाफ एक बड़ा अभियान शुरू किया जा रहा है. यह अभियान आगामी 9 अगस्त से शुरू किया जाएगा और इसको नाम दिया गया है- ‘चीन भारत छोड़ो’ बता दें कि 9 अगस्त को ही भारत छोड़ो दिवस मनाया जाता है. Also Read - दुबई अथॉरिटी ने एअर इंडिया एक्सप्रेस से कहा: चार भारतीय प्रयोगशालाओं की कोरोना रिपोर्ट खारिज करें

व्यापारियों का संगठन कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने आगामी 9 अगस्त से ‘चीन भारत छोड़ो’ अभियान शुरू करने की घोषणा की है. देश के सभी राज्यों के लगभग 600 शहरों में व्यापारी सार्वजनिक प्रदर्शन करेंगे. Also Read - जलवायु परिवर्तन से लड़ने के लिए देश अपने संकल्पों को गंभीरता से लें: भारत

कैट ने गुरवार को बयान में कहा कि चीनी वस्तुओं के बहिष्कार के अपने राष्ट्रीय अभियान ‘भारतीय सामान – हमारा अभिमान’ के तहत 9 अगस्त को चीन के ख़िलाफ़ एक नया ‘चीन भारत छोड़ो’ अभियान शुरू किया जाएगा. 9 अगस्त को ही भारत छोड़ो दिवस मनाया जाता है. Also Read - विवादास्पद कृषि विधेयकों को राष्ट्रपति ने दी मंजूरी, अकाली दल बोला- भारत के लिए काला दिन है

कैट के महासचिव प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि इस दिन सभी राज्यों के लगभग 600 शहरों में सामाजिक दूरी एवं सुरक्षा के सभी नियम का पालन करते हुए व्यापारी सार्वजनिक प्रदर्शन करेंगे.

खंडेलवाल ने कहा की जिस तरह से चीन ने एक लंबी योजना के तहत गत 20 वर्षों में भारत के खुदरा बाज़ार पर चीनी उत्पादों के द्वारा क़ब्ज़ा कर लिया है उसको देखते हुए और बदली परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए चीनी उत्पादों से देश के बाज़ार को आजाद कर आत्मनिर्भर भारतीय बाज़ार बनाना बहुत ज़रूरी है.

कैट महासचिव कहा की हाल ही में रक्षाबंधन के त्योहार को हिंदुस्तानी राखी के साथ मनाने के कैट के अभियान को देश के लोगों ने समर्थन दिया और चीनी राखी का पूर्ण रूप से बहिष्कार किया, जिससे चीन को चार हज़ार करोड़ रुपए के व्यापार की चपत लगी है.

कैट ने कहा कि देश में मनाए जाने वाले आगामी सभी त्योहार भारतीय सामान का उपयोग कर ही मनाए जाएंगे. इन त्योहारों में चीन के किसी सामान का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा.