केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने एक अप्रैल से तीन नवंबर, 2020 के बीच 39.49 लाख से अधिक करदाताओं को 1,29,190 करोड़ से अधिक रुपये का रिफंड जारी किया है. आयकर विभाग ने बुधवार को यह जानकारी दी. आयकर विभाग ने बताया कि समीक्षाधीन अवधि के दौरान सीबीडीटी ने 37,55,428 मामलों में 34,820 करोड़ रुपये का आयकर रिफंड जारी किया. Also Read - Income Tax Refund: इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने अभी तक 59 लाख से अधिक करदाताओं को जारी किया 1.40 लाख करोड़ का रिफंड

इसके अलावा केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने एक अप्रैल से तीन नवंबर, 2020 के बीच 1,93,059 मामलों में 94,370 करोड़ रुपये का कॉरपोरेट टैक्स रिफंड जारी किया. Also Read - Income Tax Department News: आयकर विभाग ने 41.25 लाख आयकर दाताओं को जारी किया 1.36 लाख करोड़ का रिफंड

ये रिफंड एक अप्रैल, 2020 से जारी किये गए हैं, जब सरकार ने जल्द से जल्द पेंडिंग आयकर रिफंड जारी करने का निर्णय लिया था. सरकार लगातार करदाताओं को बिना किसी परेशानी के कर-संबंधी सेवाएं प्रदान करने पर जोर दे रही है.

गौरलतलब है कि सरकार ने हाल ही में करदाताओं को बड़ी राहत देते हुए आईटीआर दाखिल करने की समय सीमा को बढ़ाया था.
केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने एक ट्वीट में कहा था, ‘अन्य करदाताओं के लिए आयकर रिटर्न प्रस्तुत करने की नियत तारीख [जिनके लिए नियत तारीख (उक्त अधिसूचना द्वारा विस्तार से पहले) अधिनियम के अनुसार 31 जुलाई, 2020 थी] को बढ़ाकर 31 दिसंबर 2020 कर दिया गया है.

सीबीडीटी ने एक दूसरे ट्वीट में कहा था, ‘उन करदाताओं के लिए आयकर रिटर्न प्रस्तुत करने की नियत तिथि (उनके साझेदारों सहित), जिन्हें अपने खातों का ऑडिट करवाना आवश्यक है [जिनके लिए नियत तारीख (नई अधिसूचना द्वारा विस्तार से पहले) आयकर अधिनियम के अनुसार, 31 अक्टूबर 2020 है] को बढ़ाकर 31 जनवरी 2021 की जाती है.