अहमदाबादः केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन (सीईए) ने कहा है कि वर्ष 2025 तक देश को पांच ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर वाली अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य निश्चित रूप से प्राप्त करने योग्य है. उनका यह बयान लगातार घटते वृद्धि के आंकड़ों और वैश्विक अर्थव्यवस्था पर गहराते संकटों के बीच आया है. इन संकटों में चेतावनी दी गई है कि 2008 में अमेरिका में सब-प्राइम संकट के कारण आई मंदी की तुलना में दुनिया कहीं अधिक गहरी मंदी का शिकार हो सकती है. Also Read - coronavirus से भारत की इकोनॉमी को अब तक का सबसे बड़ा झटका, मूडीज ने GDP रेट 2.5 फीसदी किया

यह बयान ऐसे समय में भी आया है जबकि कॉरपोरेट बिक्री और लाभ कम हो रहे हैं और इसकी छाया बैंकिंग क्षेत्र में गहराते संकट में भी दिखती है. सीईए ने कहा, “2025 के लिए पांच ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर का लक्ष्य निश्चित रूप से प्राप्त करने योग्य है.” उन्होंने इस सिद्धांत में विश्वास व्यक्त किया है कि अगर लक्ष्य को 10 से 15 फीसदी बढ़ा दिया जाए तो इससे अर्थव्यवस्था को आगे ले जाने में मदद मिलती है. Also Read - Coronavirus Effect: लॉकडाउन से अर्थव्यवस्था को हो सकता है नौ लाख करोड़ रुपए का नुकसान

Also Read - राहुल गांधी ने कहा- सरकार बेखबर, कोरोना वायरस पर ठोस कदम नहीं उठाए गए तो बर्बाद हो जाएगी अर्थव्यवस्था