अहमदाबादः केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन (सीईए) ने कहा है कि वर्ष 2025 तक देश को पांच ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर वाली अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य निश्चित रूप से प्राप्त करने योग्य है. उनका यह बयान लगातार घटते वृद्धि के आंकड़ों और वैश्विक अर्थव्यवस्था पर गहराते संकटों के बीच आया है. इन संकटों में चेतावनी दी गई है कि 2008 में अमेरिका में सब-प्राइम संकट के कारण आई मंदी की तुलना में दुनिया कहीं अधिक गहरी मंदी का शिकार हो सकती है.Also Read - आर्थिक विकास के वित्तपोषण में पूंजी बाजार बड़ी भूमिका निभाएगा : सेबी प्रमुख

यह बयान ऐसे समय में भी आया है जबकि कॉरपोरेट बिक्री और लाभ कम हो रहे हैं और इसकी छाया बैंकिंग क्षेत्र में गहराते संकट में भी दिखती है. सीईए ने कहा, “2025 के लिए पांच ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर का लक्ष्य निश्चित रूप से प्राप्त करने योग्य है.” उन्होंने इस सिद्धांत में विश्वास व्यक्त किया है कि अगर लक्ष्य को 10 से 15 फीसदी बढ़ा दिया जाए तो इससे अर्थव्यवस्था को आगे ले जाने में मदद मिलती है. Also Read - Employment in July: जुलाई में नौकरी और आर्थिक संभावनाएं कमजोर बनी रहीं

Also Read - Indian Economy: S&P Global ने भारत के ग्रोथ अनुमान को 11 फीसदी से घटाकर किया 9.5 फीसदी