Biggest Fiscal Stimulus package: कोराना वायरस महामारी के कारण देश की अर्थव्यवस्था चरमरा गई है और बेरोजगारी से त्राहिमाम मची है.  इस वित्तीय वर्ष में देश के GDP में 23.9% की गिरावट दर्ज की गई. बिगड़ी हुई अर्थव्यवस्था को वापस पटरी पर लाने के लिए केंद्र सरकार ने कई तरह के राहत पैकेज का ऐलान किया, जैसे-आत्मनिर्भर भारत पैकेज (Aatmanirbhar Bharat package),पीएम गरीब कल्याण पैकेज (PM Garib Kalyan package), लेकिन बात नहीं बनी. Also Read - ध्यान दें...1 नवंबर से गैस सिलेंडर की बुकिंग, बैंक के चार्ज, रेलवे का टाइम टेबल, बदल जाएंगे ये नियम

अब केंद्र की मोदी  सरकार देश की अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए अब तक के सबसे बड़े राजकोषीय प्रोत्साहन पैकेज (Fiscal Stimulus Package) की घोषणा करने जा रही है. मोदी सरकार इस Fiscal stimulus package की घोषणा फेस्टिवल सीजन शुरू होने से पहले करेगी. यह राहत पैकेज आत्मनिर्भर भारत पैकेज और पीएम गरीब कल्याण पैकेज से भी बड़ी होगी. Also Read - वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बड़ा बयान, 'चालू वित्त वर्ष में वृद्धि दर में गिरावट या शून्य के करीब रहेगी'

इस मामले से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने मनी कंट्रोल को बताया कि केंद्र सरकार 35,000 करोड़ रुपये के प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा कर सकती है, जिसका मुख्य फोकस शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में नौकरियों पर होगा. Also Read - Relief Package 2.0: जल्द हो सकती है दूसरे राहत पैकेज की घोषणा, आज पीएम नरेंद्र मोदी करेंगे बड़ी बैठक

क्या होगा इस बड़े राहत पैकेज में, जानिए….
-35,000 करोड़ रुपये के इस Fiscal stimulus package में अर्बन जॉब स्कीम, रूरल जॉब्स, बड़े पैमाने पर इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स, किसानों के लिए नई स्कीम और ज्यादा से ज्यादा कैश ट्रांसफर पर जोर होगा.

-नरेगा (NREGS) की तर्ज पर केंद्र सरकार अर्बन और सेमी अर्बन एरिया के लिए एक जॉब्स प्रोग्राम (jobs programme) लॉन्च करेगी.

-यह योजना बड़े शहरों मे लागू होने से पहले टियर 3 और टियर 4 शहरों यानी छोटे शहरों में पहले लागू होगी और उसके बाद बड़े शहरों में लागू की जाएगी.

-केंद्र सरकार National Infrastructure Pipeline के तहत ऐसे प्रोजेक्ट्स को बढ़ावा देने जा रही है जिससे अधिक से अधिक रोजगार के अवसर पैदा हों.

-20-25 ऐसे प्रोजेक्ट्स की पहचान कर ली गई है जिसमे पैसा निवेश करने से कम से कम समय में अधिक से अधिक नौकरियां पैदा होंगी. ये नौकरियां स्किल्ड और अनस्किल्ड दोनों तरह के लोगों के लिए होगी.

-इस राहत पैकेज में पिछले दो आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज की तरह ग्रामीण अर्थव्यवस्था पर जोर होगा. सरकार की योजना कैश ट्रांसफर स्कीम को और विस्तार देने की है साथ ही लोगों को मुफ्त में अनाज भी दिया जाएगा.