नई दिल्ली: देश की खाद्य आपूर्ति करने वाली सरकारी ट्रेडिंग कंपनी एमएमटीसी (MMTC) अब मिस्त्र के बाद अब तुर्की से प्याज आयात करने की तैयारी में है. सूत्रों के अनुसार इस सौदे के तहत भारत तुर्की से 11 हजार टन प्याज का आयात करेगा. सूत्रों के अनुसार एमएमटीसी ने तुर्की के साथ समझौते पर हस्ताक्षर भी किया है. यह एमएमटीसी द्वारा प्याज के आयात के लिए दिया गया दूसरा ठेका है. कंपनी पहले ही मिस्र से 6,090 टन प्याज का आयात का ऑर्डर दे चुकी है. गौरतलब है कि भारतीय घरेलू बाजार में प्याज के दाम बेलगाम हो चुके हैं. प्याज के दामों को नियंत्रित करने के लिए भारत सरकार प्याज का आयात कर रही है. बता दें कि बीते महीने कैबिनेट ने 1.2 लाख टन प्यार के आयात का फैसला लिया था जिसे बाद में मंजूरी दे दी गई थी.

CSB Bank IPO allotment status: इस तरह करें चेक

गौरतलब है कि बीते महीने देश के तमाम हिस्सों में प्याज की खुदरा कीमतें 75 से 120 रूपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गया. इस लिहाज से प्याज की आपूर्ति बढ़ाने के लिए कैबिनेट ने प्याज आयात करने को लेकर कदम उठाया है. गौरतलब है कि भारत सरकार की तरफ से प्याज निर्यात पर पहले ही रोक लगाई जा चुकी है साथ ही खुदरा विक्रेताओं के प्याज भंडारण की अधिकतम सीमा भी तय की जा चुकी है.

तुर्की से 11 हजार टन प्याज आयात किए जाने के बाद जनवरी महीने से प्याज की खेप मिलने की उम्मीद है. इससे पहले एमएमटीसी ने 6.090 टन प्याज मिस्त्र से आयात करने का समझौता किया था. मिस्त्र से लाई जा रही प्याज की खेप अगले हफ्ते भारत पहुंच जाएगी. विदेशों से मंगाए जा रहे प्याज को केंद्र सरकार सभी राज्यों को उपलब्ध कराएगी. उम्मीद जताई जा रही है कि प्याज की आपूर्ति के बाद से सरकार बाजार में 52-55 रुपये प्रति किलोग्राम तक उपलब्ध करवा रही है.

प्याज की बढ़ती कीमतों पर लगेगी लगाम, MMTC ने तुर्की से 11 हजार टन प्याज मंगाने का दिया ठेका

बता दें कि प्याज के बढ़ते दामों को नियंत्रित करने के लिए अमित शाह (Amit Shah) की अगुवाई में मंत्रियों की एक टीम बनाई गई है. इसमें वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman), उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan), कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) और नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) को शामिल किया गया है. इसके अलावा सचिवों की समिति और उपभोक्ता मामलों के सचिव के. श्रीवास्तव भी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं.