Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य की बातें आज के वातावरण में बिल्कुल सच साबित हो रही हैं. अगर हर कोई आचार्य चाणक्य की ये बातें याद रखे तो वह अपनी जिंदगी में कभी असफल और परेशान नहीं हो सकता है.Also Read - चाणक्य नीति: आपकी पत्नी में भी हैं ये गुण तो समझ लें आपसे ज्यादा भाग्यशाली कोई नहीं, चाणक्‍य नीति में है जिक्र

आचार्य चाणक्य एक महान डिप्लोमैट थे. उन्होंने जिंदगी को बड़े करीब से देखा और उसके प्रति अपना नजरिया दिया. यही कारण है कि आज के वातावरण में भी चाणक्य की बातें सच साबित हो रही हैं. आचार्य चाणक्य के इन शब्दों का अक्षरशः पालन करके आप किसी भी समस्या से आसानी से निपट सकते हैं और हर चुनौतियों का सामना कर सकते हैं. इन्हीं चार बातों के जरिए आप जीवन भर सुखी रह सकते हैं, क्योंकि ये बातें अंतिम सांस तक आदमी का साथ निभाती हैं. आइए- जानें आचार्य चाणक्य की चार बातें- Also Read - चाणक्‍य नीति: परिवार के लिए बेहद शुभ होती हैं बात-बात पर रो देने वाली महिलाएं, घर-परिवार का रखती हैं ध्‍यान

1- आचार्य चाणक्य का कहना है कि जो व्यक्ति अपने घर से बाहर रहता है उसका सबसे सच्चा साथी उसका ज्ञान होता है. ज्ञान एक ऐसी चीज है जो अनजान जगह पर उसे सम्मान दिलाता है. ज्ञान से ही वह सभी समस्याओं से निपट सकता है. इसलिए जिंदगी में ज्यादा से ज्यादा ज्ञान अर्जित करना चाहिए. Also Read - चाणक्य नीति: आचार्य चाणक्य से जानें लक्ष्मी जी को प्रसन्न करने वाली बातें, ऐसी आदतों वाले लोग हो जाते हैं कंगाल

2- जिंदगी में पति और पत्नी के बीच का रिश्ता रथ के पहिए की तरह होता है जो साथ-साथ चलता है. अगर एक पहिया टूट जाता है तो रथ का चलना मुश्किल हो जाता है. इसलिए दोनों पहियों का होना जरूरी है. ताकि जिंदगी आसानी से चलती रहे. आचार्य चाणक्य कहते हैं कि जिस व्यक्ति की पत्नी हर समय उसका साथ निभाती है उसे समाज में काफी अच्छी नजरों से देखा जाता है और उसे भरपूर सम्मान मिलता है. वह अपने पति की खुशी के लिए अपना जीवन समर्पित कर देती है और उसके हर सुख-दुख की साथी होती है. जिंदगी की विपरीत परिस्थितियों में वो हर समय अपने पति के साथ खड़ी रहती है.

3- किसी भी व्यक्ति की तीसरी साथ दवायें होती हैं. जब किसी की तबीयत नासाज हो जाती है तो दवा ही है जो उसे आराम देती है. साथ ही उसे किसी भी गंभीर बीमारी से बचाती हैं.

4- इसके अतिरिक्त, किसी भी व्यक्ति का चौथा साथी उसका धर्म होता है. जो व्यक्ति हर समय सही रास्ते पर चलता है और गलत काम नहीं करता है. वह हर समय सत्कर्म का पालन करता है. ये सभी बातें उसे जिंदगी में सम्मान दिलाती हैं. अगर उस व्यक्ति की मौत भी हो जाती है तो लोग उसे अच्छे से याद करते हैं. इसलिए हर किसी को धर्म का पालन करना चाहिए.