वॉशिंगटन: ट्रंप प्रशासन के लगातार दबाव के बीच व्यापार घाटे को कम करने के लिए चीन 200 अरब डॉलर के अमेरिकी उत्पाद खरीद सकता है. एक मीडिया रिपोर्ट में शुक्रवार को यह बात कही गई. द्विपक्षीय आर्थिक संबंधों और व्यापार मोर्चे पर टकराव को समाप्त करने के उद्देश्य से अमेरिका- चीन के बीच जारी उच्च – स्तरीय वार्ता के बीच यह रिपोर्ट सामने आई है. लेकिन इस पर जब सवाल उठा तो चीन के विदेश मंत्रालय ने इसे खारिज कर दिया है. चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ला कांग ने ऐसे किसी ऑफर से इनकार किया है. Also Read - Good News: बॉलीवुड में लौट आई बहार, फिर से शुरु होगी फिल्मों की शूटिंग

ट्रम्प से सामने 200 अरब डॉलर की खरीदारी की पेशकश
द न्यूयॉर्क टाइम्स ने रिपोर्ट में कहा, “वार्ता के बारे में जानकारी देने वालों के मुताबिक, चीनी वार्ताकार ट्रंप प्रशासन के सामने 200 अरब डॉलर के अमेरिकी उत्पाद खरीदने की पेशकश करने की तैयारी में है. यह ट्रम्प को चीन के साथ व्यापार घाटे को कम करने और सबसे बड़े आर्थिक प्रतिद्वंद्वी के साथ व्यापार संबंधों को पुनर्व्यवस्थित करने के लिए शुरू किए गए गए अपने अभियान में जीत का दावा करने की अनुमति देगा.” Also Read - PM Narendra Modi Letter: पीएम मोदी ने जनता के नाम लिखा पत्र, कहा- आपदा तय नहीं कर सकती हमारा वर्तमान और भविष्य, पढ़ें 10 बड़ी बातें

विशेषज्ञों ने कहा चीन भ्रमित कर रहा
वहीं, अर्थशास्त्रियों ने चेताया है कि चीन का वादा बड़े पैमाने पर भ्रमित करने वाला है, क्योंकि अधिक अमेरिकी उत्पाद खरीदने के लिए चीन में संरचनात्मक बाधाएं मौजूद हैं. इसके साथ ही चीन की मांग को पूरा करने के लिए अमेरिका को भारी मात्रा में उत्पादन करना होगा. Also Read - Dhumavati Jayanti 2020: धूमावती जयती आज, इस मंत्र के जाप और पूूजा विधि से करें माता का पूजन

ट्रेड प्रतिस्पर्धा में दोनों ने निशाना बनाया
अमेरिका ने 150 अरब डॉलर की कीमत के चीनी उत्पादों पर 25 प्रतिशत शुल्क लगाने की चेतावनी दी थी, जबकि चीन ने 50 अरब डॉलर के अमेरिकी उत्पादों को निशाना बनाया था. दोनों देशों ने बातचीत से मसले का समाधान निकालने के लिए अभी तक शुल्क की बढ़ी दरों को लागू नहीं किया है. (इनपुट एजेंसी)