Crude oil price today: अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दामों में गिरावट देखी जा रही है. कच्चे तेल के दामों में लगातार दूसरे कारोबारी सत्र में गिरावट आते हुए देखी गई है. सोमवार को कच्चे तेल के दाम गिर गए हैं. बता दें, दुनिया के कुछ देशों में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने के बाद लॉकडाउन लगा है. इससे कच्चे तेल की मांग घटने की आशंका है. इसका असर इसकी कीमतों पर दिखाई दिया है.Also Read - Petrol and Diesel Price Hike: एक दिन के अंतराल के बाद तेल की कीमतों में फिर हुई बढ़ोतरी, जानिए- अपने शहर के ताजा रेट

अंतर्राष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड मार्च वायदा 15 सेंट यानी 0.3 फीसदी गिरकर 55.26 डॉलर प्रति बैरल हो गया, जबकि मार्च के लिए यूएस वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट क्रूड 8 सेंट या 0.2 फीसदी की गिरावट के साथ 52.19 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार करता हुआ दिखाई दिया. Also Read - Petrol Price Today: लगातार दूसरे दिन पेट्रोल- डीजल के दामों में हुई बढ़ोतरी, 18 दिनों से स्थिर थे रेट

वहीं, मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर कच्चा तेल फरवरी वायदा 12 रुपये यानी 0.31 फीसदी गिरकर 3,823 रुपये प्रति बैरल पर कारोबार करता हुआ दिखाई दिया. चीन ने सोमवार को कोविड-19 के मामले बढ़ने की जानकारी दी है. चीन दुनिया में कच्चे तेल के बड़े उपभोक्ताओं में से एक है. Also Read - Crude Oil Price: मांग में कमी से कच्चे तेल में गिरावट, 66 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंचे भाव

अमेरिकी ऊर्जा सूचना प्रशासन ने कच्चे तेल के भंडार के आंकड़े जारी किए हैं. कच्चे तेल के भंडार में आश्चर्यजनक रूप से बढ़ोतरी देखी गई. बीते सप्ताह अमेरिका में कच्चे तेल का स्टॉक 44 लाख बैरल बढ़ गया. अमेरिका में 22 जनवरी तक ऑयल और नैचुरल गैस के उत्पादन से जुड़े रिग्स की संख्या लगातार 9वें हफ्ते बढ़ी है.

हालांकि, यह संख्या पिछले साल की इसी अवधि के मुकाबले करीब 50 फीसदी कम है. सऊदी अरब की तरफ से उत्पादन में कटौती के बाद से कच्चे तेल की कीमतों में तेजी दिखी थी. सऊदी अरब दुनिया में कच्चे तेल का सबसे बड़ा निर्यातक है.