Dearness Allowance Hike Announcement: केंद्र सरकार ने अपने कर्मचारियों को दिवाली से पहले बड़ा उपहार देने की घोषणा की है. केंद्र ने दिवाली के तोहफे के रूप में उनके महंगाई भत्ते (DA) को 3 फीसदी और बढ़ाने का फैसला किया है. जिसका मतलब बिल्कुल साफ है. अब केंद्रीय कर्मचारियों को 31 फीसदी की दर से महंगाई भत्ता मिलेगा. इसका फायदा एक करोड़ से ज्यादा केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स को मिलेगा.Also Read - DA Hike Latest Update: केंद्रीय कर्मचारियों की फिर से होगी बल्ले-बल्ले, DA 3% बढ़कर हो जाएगा 34%, फटाफट चेक करें डिटेल्स

बता दें, इस साल जुलाई में ही सरकार ने महंगाई भत्ता (DA Hike) में 11 फीसदी की बढ़त कर इसे 28 फीसदी किया था. इससे पहले DA का भुगतान 17 फीसदी की दर से हो रहा था. Also Read - Jharkhand DA Hike: हेमंत कैबिनेट का बड़ा ऐलान-3% बढ़ाया सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों का महंगाई भत्ता

दरअसल, लेबर मिनिस्ट्री ने AICPI (All India Consumer Price Index) के पिछले तीन महीनों के आंकड़े जारी किए थे. इनमें जून, जुलाई और अगस्त का नंबर शामिल था. AICPI इंडेक्स अगस्त में 123 अंक पर पहुंच चुका है. इससे ही यह संकेत मिल गया कि महंगाई भत्ते में सरकार आगे और बढ़त कर सकती है. इसके आधार पर ही केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता तय किया जाता है. Also Read - नीतीश सरकार ने सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों का दिया दिवाली का तोहफा, बढ़ा महंगाई भत्ता

महंगाई भत्ता बढ़ने से दूसरे भत्तों पर भी इसका असर देखा जाएगा. इसमें ट्रैवल अलाउंस (Travel Allowance) और सिटी अलाउंस (City Allowance) शामिल हैं. साथ ही, रिटायरमेंट के लिए प्रोविडेंट फंड (Provident Fund) और ग्रेच्युटी (Gratuity) में भी बढ़ोतरी होगी.

इससे पहले सितंबर में, वित्त मंत्रालय के तहत व्यय विभाग ने एक ज्ञापन जारी किया था जिसमें कहा गया था कि सेवानिवृत्त केंद्र सरकार के कर्मचारियों को नकद भुगतान और ग्रेच्युटी मिलेगी.

बता दें, इससे पहले, केंद्र ने केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को दिए जाने वाले डीए और महंगाई राहत (DR) को 17 फीसदी से बढ़ाकर 28 फीसदी करने की मंजूरी दी थी.

यह वृद्धि 1 जुलाई, 2021 से लागू थी और इससे लगभग 48.34 लाख केंद्र सरकार के कर्मचारियों और 65.26 लाख पेंशनभोगियों को लाभ हुआ.

ज्ञापन में 1 जनवरी, 2020 से 30 जून, 2021 की अवधि के दौरान डीए के भुगतान से संबंधित मामलों का भी उल्लेख किया गया था.