नई दिल्ली: लैपटॉप ब्रांड डेल भारत का सबसे भरोसेमंद ब्रांड है. इसके बाद वाहन कंपनी जीप और बीमा क्षेत्र की दिग्ज कंपनी एलआईसी का नंबर आता है. टीआरए की ब्रांड विश्वास रिपोर्ट, 2019 के अनुसार शीर्ष सात ब्रांडों में एलआईसी एकमात्र भारतीय कंपनी है. अमेजन चौथा सबसे भरोसेमंद ब्रांड है. उसके बाद एप्पल आईफोन भारत का 5वां सबसे भरोसेमंद ब्रांड है, जो 2018 से 116 वें स्थान से लंबी छलांग के साथ यहां पहुंचा है. इसके साथ ही एप्पल आईफोन मोबाइल फोन श्रृंखला में भी शीर्ष पर है. Also Read - COVID-19 Cases Updates: देश में कोरोना से 4106 नई मौतें हुईं, 24 घंटे 2.81 लाख नए केस दर्ज

सैमसंग का मोबाइल फोन ब्रांड छठे स्थान पर है और मोबाइल फोन में अग्रणी है. एलजी टेलीविजन 7वां स्थान हासिल करने में सफल रहा है और उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स सुपर-श्रेणी में भी अग्रणी है. अवीवा लाइफ इंश्योरेंस को 8वां सबसे भरोसेमंद ब्रांड आंका गया है और मारुति सुजुकी 9 वें स्थान पर है. भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) 10वें स्थान पर है. Also Read - Haryana Lockdown Extension: हरियाणा में लॉकडाउन बढ़ाया गया, सख्‍ती जारी

ब्रांडों की सबसे बड़ी संख्या टाटा समूह की है और सबसे विश्वसनीय ब्रांडस की सूची में उसके 23 ब्रांड हैं. गोदरेज के 15 ब्रांड हैं, अमूल के 11 और सैमसंग का 8 श्रेणियों में प्रतिनिधित्व है. एलजी, होंडा, कैडबरी, नेस्ले, पारले और डाबर को 7-7 ब्रांडों द्वारा प्रतिनिधित्व मिला है. डाबर के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि यह है कि इसके ब्रांड अपनी अपनी श्रेणियों में से सबसे आगे हैं. Also Read - COVID-19 Cases Today: देश में कोरोना संक्रमण से फिर नई मौतें का आंकड़ा 4 हजार के पार, 3.11 लाख नए केस

यह टीआरए की ब्रांड रिपोर्ट का नौवां संस्करण है. टीआरए रिसर्च ने 16 शहरों में 2,315 लोगों की राय पर यह रिपोर्ट तैयार की है. इस नई रिपोर्ट पर टीआरए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एन. चंद्रमौली ने कहा, ”विश्वास के बिना, एक ब्रांड की उपभोक्ताओं के साथ सहभागिता पूरी तरह से अप्रभावी हो जाती है. एक ब्रांड को लेकर विश्वास उन सभी लेनदेन के आधार पर पैदा होता है जो कि उपभोक्ताओं के ब्रांड के साथ होते हैं.”