International Flights in Unlock 5: नियमित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के परिचालन पर रोक 31 अक्टूबर तक बढ़ा दी गयी है. विमानन क्षेत्र के नियामक नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने बुधवार को यह जानकारी दी. डीजीसीए ने कहा, ‘‘हालांकि, सूचीबद्ध अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को सक्षम प्राधिकरण द्वारा चयनित मार्गों पर चलाने की अनुमति दी जा सकती है. यह मामला दर मामला आधार पर निर्भर करेगा.’’Also Read - Omicron के खतरे को देखते हुए बंगाल सरकार अलर्ट, UK से कोलकाता आने वाली सभी उड़ानों पर 3 जनवरी से रोक

कोरोना वायरस के प्रसार पर लगाम के लिए 23 मार्च को लगाये गए लॉकडाउन के बाद से नियमित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के परिचालन पर रोक है. हालांकि, मई से वंदे भारत मिशन और जुलाई से चुनिंदा देशों के साथ किए गए विशेष समझौतों के तहत अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का परिचालन किया जा रहा है. भारत ने अमेरिका, ब्रिटेन, संयुक्त अरब अमीरात, केन्या, भूटान और फ्रांस के साथ विशेष द्विपक्षीय उड़ान समझौता (एयर बबल पैक्ट) किया है. Also Read - International Flights: भारत ने अंतर्राष्ट्रीय वाणिज्यिक उड़ानों पर 31 जनवरी तक प्रतिबंध बढ़ाया

डीजीसीए ने अपने परिपत्र में स्पष्ट किया कि यह रोक केवल नियमित अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर जारी रहेगी. इससे विशेष अनुमति प्राप्त और सभी मालवाहक उड़ानों के परिचालन पर कोई असर नहीं पड़ेगा. Also Read - WHO ने कही बड़ी बात-सिर्फ यात्रा प्रतिबंध से नहीं रुकेगा Omicron, 60 साल से अधिक उम्र वाले लोग बरतें सावधानी

आपको बता दें कि कोरोना वायरस लॉकडाउन के बाद से ही देश में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगा हुआ है. इससे पहले भी डीजीसिए की तरफ से कहा गया था कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानें दीवाली तक 60 प्रतिशत शुरू हो सकती है. फिलहाल अभी उड़ानों पर रोक लगा दी गई है और भविष्य में कोरोना के हालात के अनुसार इस पर निर्णय लिया जा सकता है.