नई दिल्ली: अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये में लगातार गिरावट आने के साथ डीजल का दाम पहली बार 70 रुपये प्रति लीटर से ऊपर पहुंच गया. इसके साथ ही घरेलू एलपीजी सिलेंडर का दाम भी 1.49 रुपये प्रति सिलेंडर बढ़ गया.

सब्सिडीयुक्त रसोई गैस सिलेंडर का दाम शनिवार मध्यरात्रि से दिल्ली में 1.49 रुपये बढ़कर 499.51 रुपये प्रति सिलेंडर हो जायेगा. यह वृद्धि मुख्य तौर पर आधारभूत मूल्य पर कर बढ़ने की वजह से हुई है. देश की सबसे बड़ी पेट्रोलियम विपणन कंपनी इंडियन आयल कॉरपोरेशन ने एक वक्तव्य में यह जानकारी दी है.

डीजल के दाम में 28 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि हुई है. ईंधन के दाम में दैनिक संशोधन शुरू होने के बाद डीजल के दाम में यह सबसे तेज वृद्धि है. दिल्ली में अब एक लीटर डीजल का दाम 70.21 रुपये प्रति लीटर होगा. उल्लेखनीय है कि दिल्ली में देश के चारों महानगरों में ईंधन के दाम सबसे कम होते हैं. पेट्रोल का दाम भी बढ़कर 78.51 रुपये लीटर पर पहुंच गया.

अभी कम नहीं होंगी पेट्रोल-डीजल की कीमतें, त्योहारों के सीजन में और बढ़ेगी महंगाई

सरकार रसोई गैस की सब्सिडी राशि सीधे लाभार्थी के खाते में पहुंचाती है. हालांकि, उपभोक्ता को सिलेंडर बाजार मूल्य पर खरीदना होता है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में दाम की घट बढ़ के साथ सब्सिडी राशि में भी बदलाव होता है. नियमों के मुताबिक एलपीजी पर जीएसटी का भुगतान सिलेंडर के बाजार मूल्य पर करना होगा. मूल्य की घट-बढ़ पर सब्सिडी का भुगतान सरकार करेगी लेकिन कर का भुगतान उपभोक्ता को ही करना होता है. यही वजह है कि कर भुगतान बढ़ने से सब्सिडी युक्त सिलेंडर करीब डेढ रुपया महंगा होगा.

1 सितंबर से कार और बाइक्स खरीदना जेब पर पड़ेगा भारी, 5 से 25 हजार तक ज्यादा देने होंगे

विशेषज्ञों का मानना है कि देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि का दौर फिलहाल जारी रहने की संभावना है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतों में वृद्धि इसका मुख्य कारण है. इस सप्ताह भी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल करीब चार डॉलर महंगा हो गया. इसके चलते पेट्रोल-डीजल की कीमतें तो बढ़ेंगी ही, त्योहारों के सीजन में महंगाई के भी तेज रहने की आशंका है.