कोलकाता. केंद्रीय ट्रेड यूनियनों के आह्वान पर कल से शुरू होने वाली दो दिवसीय हड़ताल का बैंकिंग क्षेत्र के कामकाज पर आंशिक असर पड़ने की संभावना है. बैंकिंग यूनियन के एक अधिकारी ने सोमवार को यह बात कही. केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने आठ और नौ जनवरी को दो दिन की आम हड़ताल का आह्वान किया है. अधिकारी ने कहा कि इन दो दिन के दौरान देश के सबसे बड़े भारतीय स्टेट बैंक (SBI) में संभवत: कामकाज होगा. एसबीआई की 85,000 शाखाएं हैं. इसके अलावा कुछ अन्य राष्ट्रीयकृत बैंकों में भी सामान्य कामकाज होने की उम्मीद है. यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के पश्चिम बंगाल के संयोजक सिद्धार्थ खान ने कहा, ‘‘एसबीआई की सभी शाखाओं में परिचालन होगा. बैंक कर्मचारी यूनियन के नौ घटकों में से सिर्फ दो ने हड़ताल का आह्वान किया है. शेष हड़ताल का समर्थन नहीं कर रहे हैं.’’

ऑल इंडिया बैंक एम्पलाइज एसोसिएशन और बैंक एम्पलाइज फेडरेशन आफ इंडिया ने ही हड़ताल का आह्वान किया है. सिद्धार्थ खान ने कहा कि एसबीआई के अलावा इंडियन ओवरसीज बैंक और बैंक आफ इंडिया में सामान्य कामकाज होगा. कुछ अन्य बैंकों में कामकाज आंशिक तौर पर प्रभावित हो सकता है. स्टेट बैंक के मुख्य महाप्रबंधक बंगाल मंडल, आरके मिश्रा ने कहा कि किसी भी हड़ताल के समय बैंक हमेशा ही कामकाज जारी रखने का प्रयास करता है. मंगलवार और बुधवार को भी बैंक में सामान्य कामकाज जारी रहने की उम्मीद है. रिजर्व बैंक के कर्मचारियों ने हालांकि आठ जनवरी को ही हड़ताल का समर्थन किया है.

मंगलवार से 20 करोड़ कर्मचारी करेंगे हड़ताल, 10 से ज्यादा ट्रेड यूनियनों ने दिया समर्थन

बता दें कि श्रम सुधार और श्रमिक-विरोधी नीतियों के विरोध में केंद्रीय श्रमिक संघों ने मंगलवार से दो दिवसीय देशव्यापी हड़ताल का आहवान किया है. विभिन्न मजदूर संघों ने सोमवार को जारी एक संयुक्त बयान में कहा कि करीब 20 करोड़ कर्मचारी इस हड़ताल में शामिल होंगे. एटक की महासचिव अमरजीत कौर ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि 10 से ज्यादा संगठनों ने दो दिनों की आम हड़ताल को अपना समर्थन दिया है. उन्होंने कहा कि भाजपा नीत सरकार की जनविरोधी और श्रमिक विरोधी नीतियों के खिलाफ इस हड़ताल में सबसे ज्यादा संख्या में संगठित और असंगठित क्षेत्र के कर्मचारी शामिल होंगे. कौर ने बताया कि दूरसंचार, स्वास्थ्य, शिक्षा, कोयला, इस्पात, बिजली, बैंकिंग, बीमा और परिवहन क्षेत्र के लोगों के इस हड़ताल में शामिल होने की उम्मीद है.

(इनपुट – एजेंसी)