नई दिल्ली: ई-कॉमर्स कंपनियों को लॉकडान के दौरान ‘ऑरेंज’ और ‘ग्रीन जोन’ में लैपटॉप और रेफ्रिजरेटर जैसी गैर-जरूरी वस्तुओं सहित सभी प्रकार के सामान बेचने की अनुमति देने के फैसले से लोगों को राहत मिलेगी. कंपनियों ने कहा है कि इससे लाखों छोटे और मध्यम उपक्रमों और व्यापारियों को कारोबार फिर से शुरू करने में मदद भी मिलेगी. सरकार ने हवाई यात्रा, ट्रेनों और अंतर-राज्यीय सड़क परिवहन पर प्रतिबंध के साथ लॉकडाउन को 17 मई तक बढ़ा दिया है. हालांकि, कोरोना वायरस के संक्रमण के सीमित मामलों वाले क्षेत्रों (ऑरेंज जोन) तथा संक्रमण से मुक्त क्षेत्रों (ग्रीन जोन) में विभिन्न व्यावसायिक गतिविधियों और लोगों की आवाजाही को छूट दी गयी है. Also Read - Coronavirus In India Update: 24 घंटे में रिकॉर्ड मामले आए सामने, संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 38 हजार के पार

नए नियमों के तहत, अधिक संक्रमण मामले वाले रेड जोन में ई-कॉमर्स कंपनियां अभी भी केवल आवश्यक वस्तुओं की ही आपूर्ति कर सकती हैं. हालांकि, ग्रीन और ऑरेंज दोनों क्षेत्रों में आवश्यक और गैर-आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति की जा सकेगी. Also Read - आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल को छोड़कर पूरे देश में आज से शुरू होंगी घरेलू यात्री उड़ानें, राज्यों के अलग-अलग नियम

दिल्ली मुंबई वालों को करना होगा इंतजार
दिल्ली और मुंबई सहित सभी प्रमुख शहर रेड जोन में शामिल किये गये हैं. अत: ऐसे शहरों में इस छूट का लाभ नहीं मिल सकेगा. अमेजॉन इंडिया के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हम नारंगी और हरे क्षेत्रों मेंई-कॉमर्स की अनुमति देने के सरकार के फैसले का स्वागत करते हैं. लाखों छोटे और मध्यम व्यवसाय तथा व्यापारी अब कारोबार पुन: शुरू कर पाने में सक्षम होंगे. प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी “रेड जोन को लेकर नये दिशानिर्देशों का पालन करेगी.” पेटीएम मॉल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्रीनिवास मोथे ने कहा, “सरकार ने हरे (ग्रीन) और नारंगी (ओरेंज) क्षेत्रों में गैर-जरूरी वस्तुओं की ई-कॉमर्स आपूर्ति को छूट देकर सही निर्णय लिया है.” Also Read - उद्धव सरकार के दूसरे मंत्री को हुआ कोरोना, महाराष्ट्र के पूर्व CM अशोक चव्हाण पाए गए पॉजिटिव

उन्होंने कहा कि ग्राहक एयर कंडीशनर्स, रेफ्रिजरेटर और यहां तक कि गर्मियों के कपड़े जैसे उत्पादों को खरीदने के लिए लॉकडाउन दिशानिर्देशों में कुछ राहत का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे. लोग घर से काम और अध्ययन जारी रखने के लिए लैपटॉप, मोबाइल फोन, कंप्यूटर हार्डवेयर और लेखन सामग्री खरीदने के लिए भी उत्सुक हैं. इस कदम से लोगों को बड़ी राहत मिलेगी.

स्नैपडील के प्रवक्ता ने कहा कि गृह मंत्रालय द्वारा की गई घोषणा देश के विभिन्न हिस्सों में ई-कॉमर्स सहित विभिन्न आर्थिक गतिविधियों की धीरे-धीरे शुरुआत का मार्ग प्रशस्त करती है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिन में देश के 130 जिलों को रेड जोन, 284 को ऑरेंज जोन और 319 को ग्रीन जोन में सूचीबद्ध किया था. जिलों के इस वर्गीकरण का 10 मई तक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा पालन किया जाना है और फिर आवश्यकता पड़ने पर साप्ताहिक आधार पर या उससे पहले इस सूची में संशोधन किया जाएगा.

(इनपुट भाषा)