Economic Survey 2021 LIVE: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President of India) के अभिभाषण (Joint session speech) के साथ ही आज यानी 29 जनवरी को बजट सत्र की शुरुआत हो गई. अपने संबोधन में राष्ट्रपति ने पिछले दिनों सरकार की ओर से उठाए गए योजनाओं व उपलब्धियों को गिनाया. अब वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) संसद के पटल पर आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 पेश करेंगी. इसके बाद मुख्य आर्थिक सलाहकार केवी सुब्रमण्यन दोपहर 2.30 बजे एक प्रेस कांफ्रेंस करेंगे. Also Read - गुस्से में विपक्ष पर बरसे CM योगी आदित्यनाथ बोले-ज्यादा गर्मी न दिखाएं, सबका पेट दर्द दूर कर दूंगा,

बता दें, आर्थिक सर्वेक्षण में देश की इकोनॉमी के ब्रॉड प्रॉस्पेक्ट (Broad Prospects of Economy), राजकोष, महंगाई दर (Inflation) और सभी तरह की आर्थिक गतिविधियों के बारे में विस्तार से सारी जानकारी दी जाती है. आर्थिक सर्वेक्षण (Economic Survey 2021) देश की इकोनॉमी की स्थिति को समझने के लिए जरूरी दस्तावेज है. Also Read - Private Banks Can Get Govt Business: अब कर संग्रह, पेंशन भुगतान और लघु बचत योजनाओं जैसे काम भी करेंगे निजी बैंक

आर्थिक सर्वेक्षण में आर्थिक विकास का पूर्वानुमान भी शामिल होता है, इसके अलावा अर्थव्यवस्था (Economy) में तेजी रहेगी या मंदी, ये बातें भी शामिल होती हैं. Also Read - Privatisation of PSU Banks: सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का निजीकरण क्यों करना चाहती है भारत सरकार?