नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गुजरात की फार्मास्यूटिकल कंपनी स्टर्लिंग बायोटेक के खिलाफ बैंक धोखाधड़ी और धन शोधन जांच के तहत बुधवार को 9 हजार करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति जब्त की, जिसमें नाइजीरिया में तेल रिग, पोत, एक कारोबारी विमान और लंदन में एक आलीशान फ्लैट शामिल है. ईडी पहले इस मामले में 4730 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त कर चुकी है.

ईडी ने कहा कि एजेंसी ने धन शोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत संपत्ति जब्त करने के लिए अस्थायी आदेश जारी किया है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि ज्यादातर विदेशों में स्थित संपत्ति सहित कुल 9,778 करोड़ रुपए कीमत की संपत्ति जब्त की गई है जो एजेंसी द्वारा जारी अब तक की सबसे बड़ी संपत्ति जब्ती है.

एजेंसी ने एक बयान में कहा कि नाइजीरिया में ‘ओएमएल 143’ नाम का तेल क्षेत्र और चार तेल रिग, पनामा में पंजीकृत चार पोत, अमेरिका में पंजीकृत एक ‘गल्फस्ट्रीम’ विमान और लंदन में स्थित एक आवासीय फ्लैट को जब्त किया गया है.

वडोदरा स्थित फार्मा कंपनी पर 8100 करोड़ रुपए की बैंक लोन में धोखाधड़ी करने का आरोप है और इसके मुख्य प्रमोटर नितिन संदेसरा, चेतन संदेसरा और दीप्ति संदेसरा फरार हैं. ईडी पहले इस मामले में 4730 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त कर चुकी है.