नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दिल्ली हाईकोर्ट को बताया कि वह इस बात की जांच कर रहा है कि क्या ई-कॉमर्स क्षेत्र की कंपनियों अमेजन और फ्लिपकार्ट ने विदेशी विनिमय नियमों (फेमा) का उल्लंघन किया है. ईडी ने गुरुवार को यह प्रतिक्रिया एक जनहित याचिका के जवाब में दी है. याचिका में आरोप लगाया गया है कि ई-कॉमर्स क्षेत्र की दिग्गज कंपनियां प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) नियमों का उल्लंघन कर रही हैं. Also Read - लॉकडाउन के चलते लीडिंग शॉपिंग साइट ने बंद की डिलिवरी, कस्टमर्स होंगे परेशान

यह मामला मुख्य न्यायाधीश राजेंद्र मेनन और न्यायमूर्ति वी के राव की पीठ के समक्ष सुनवाई के लिए 19 नवंबर को आएगा. इससे पहले अदालत ने इस याचिका पर केंद्र, अमेजन और फ्लिपकार्ट से जवाब मांगा था. याचिका में एफडीआई नियमों के उल्लंघन की जांच की अपील की गई है. Also Read - ED ने AAP पार्षद ताहिर हुसैन के खिलाफ मामला दर्ज किया, उसके 3 साथी गिरफ्तार

सरकारी वकील अमित महाजन के माध्यम से दिए अपने जवाब में ईडी ने कहा कि विभाग ने पहले ही दोनों कंपनियों के खिलाफ विदेशी विनिमय प्रबंधन कानून (फेमा) के तहत जांच शुरू कर दी है. ईडी ने इस याचिका को खारिज करने का भी आग्रह किया है. यह याचिका एनजीओ टेलीकॉम वॉचडॉग ने दायर की है. Also Read - Yes Bank Crisis: CBI ने सह-संस्थापक राणा कपूर व अन्य के खिलाफ FIR दर्ज की