नई दिल्लीः सरकार ने कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) पर ब्याज की दर में बढ़ोतरी कर देशभार के छह करोड़ से अधिक नौकरीपेशा लोगों को त्योहारों से पहले एक तोहफा दिया है. श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने कहा है कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के छह करोड़ से अधिक खाता धारकों को 2018-19 के लिए उनकी भविष्य निधि जमा पर 8.65 प्रतिशत की दर से ब्याज दिया जायेगा.Also Read - Employee Pension Scheme: कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी, बढ़ेगी पेंशन की रकम! 20,000 रुपये के बेसिक पर मिलेंगे 8,571 रुपये, जानिए- कैसे

ईपीएफओ के लिए निर्णय लेने वाले शीर्ष निकाय केंद्रीय न्यासी बोर्ड ने इस साल फरवरी में बीते वित्त वर्ष के लिए 8.65 प्रतिशत की दर से ब्याज देने की अनुमति दी थी. बाद में इस प्रस्ताव को वित्त मंत्रालय की मंजूरी के लिए भेजा गया. गंगवार ने यहां एक कार्यक्रम से अलग संवाददाताओं से कहा, ‘‘त्योहार से पहले की सौगात है. ईपीएफओ के छह करोड़ से अधिक सदस्यों को 2018-19 के लिए 8.65 प्रतिशत की दर से ब्याज दिया जायेगा.’’वर्तमान में ईपीएफओ खातों में दावों का निपटान 8.55 प्रतिशत की ब्याज दर पर किया जा रहा है. यह दर 2017-18 के दौरान लागू थी. Also Read - EPFO Latest News Update: 22.55 करोड़ लोगों के खातों में सरकार ने भेजे पैसे, तुरंत चेक करें बैलेंस, जानें- क्या है तरीका?

Also Read - EPFO News Update: EPFO ने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए 22.55 करोड़ ग्राहकों को दिया 8.50% ब्याज, जानें- आपके खाते में पैसा आया कि नहीं?