EPFO News Update: कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने नए साल से पहले लाखों पीएफ ग्राहकों के लिए बहुत जरूरी खुशी को देखते हुए वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए भविष्य निधि खातों में 8.50 प्रतिशत ब्याज जमा करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. यह सबसे अधिक संभावना है कि आप पहले ही अपने पीएफ खाते में 8.5% ब्याज जमा कर चुके हैं. पीएफ ग्राहक चार अलग-अलग तरीकों का उपयोग करके घर बैठे अपने पीएफ बैलेंस की जांच कर सकते हैं – एसएमएस, ऑनलाइन, मिस्ड कॉल और उमंग ऐप का उपयोग करके पीएफ बैलेंस की जांच करें.Also Read - EPFO Birth date Update: EPFO में जन्म तिथि को कैसे करें ऑनलाइन अप्डेट, यहां जानें- स्टेप-बाय-स्टेप प्रक्रिया

EPFO ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल के माध्यम से कहा है कि वित्त वर्ष 2020-21 के लिए 22.55 करोड़ खातों में 8.50% ब्याज के साथ जमा किया गया है. Also Read - EPFO Latest Update: EPFO ने नवंबर 2021 में जोड़े 13.95 लाख ग्राहक, 8.28 लाख लोग पहली बार बने मेंबर

Also Read - EPFO E - Nomination: PF खाताधारकों के लिए ई-नामांकन प्रक्रिया अनिवार्य, बिना इसके नहीं चेक कर पाएंगे खाते की रकम

जानिए- ईपीएफ अकाउंट बैलेंस ऑनलाइन कैसे चेक करें

  • epfindia.gov.in पर लॉग ऑन करें
  • अपने यूएएन नंबर, पासवर्ड और कैप्चा कोड में फीड करें
  • ई-पासबुक पर क्लिक करें
  • एक बार जब आप सभी विवरण दर्ज कर लेते हैं, तो आप एक नए पेज पर पहुंच जाएंगे
  • अब ओपन मेम्बर आईडी
  • अब आप अपने खाते में कुल EPF बैलेंस देख सकते हैं
  • उमंग ऐप के जरिए EPF बैलेंस कैसे चेक करें?
  • उमंग ऐप खोलें
  • ईपीएफओ पर क्लिक करें.
  • कर्मचारी केंद्रित सेवाओं पर क्लिक करें
  • व्यू पासबुक विकल्प पर क्लिक करें
  • अपने UAN नंबर और पासवर्ड में फ़ीड करें
  • आपको आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी प्राप्त होगा
  • अब आप अपना EPF बैलेंस चेक कर सकते हैं

एसएमएस के जरिए ईपीएफ बैलेंस कैसे चेक करें

मोबाइल नंबर के अलावा, यूएएन पोर्टल पर पंजीकृत सदस्य अपने पंजीकृत मोबाइल नंबरों से एक एसएमएस भेजकर अपने पीएफ विवरण प्राप्त कर सकते हैं. इसके लिए आपको ‘EPFOHO UAN’ लिखकर 7738299899 पर एसएमएस करना होगा.

MISSED कॉल के जरिए EPF बैलेंस कैसे चेक करें

  • यूएएन पोर्टल पर पंजीकृत ईपीएफओ ग्राहक, यूएएन के साथ पंजीकृत अपने मोबाइल नंबर से 011-22901406 पर एक मिस्ड कॉल देकर कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के पास अपने पीएफ विवरण उपलब्ध करा सकते हैं.
  • यह याद किया जा सकता है कि मार्च 2021 में, ईपीएफओ के शीर्ष निर्णय लेने वाले निकाय केंद्रीय न्यासी बोर्ड ने श्रीनगर में अपनी बैठक में 2020-21 के लिए ब्याज की 8.5 प्रतिशत दर तय करने का निर्णय लिया था.
  • श्रम मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है, “केंद्रीय न्यासी बोर्ड (सीबीटी) ने वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए सदस्यों के खातों में ईपीएफ संचय पर 8.50 प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर जमा करने की सिफारिश की है.”
  • ब्याज दर पर सीबीटी का निर्णय सहमति के लिए वित्त मंत्रालय को भेजा जा रहा है. अब वित्त मंत्रालय की मंजूरी मिलने के बाद चालू वित्त वर्ष के लिए 8.5 फीसदी की ब्याज दर ईपीएफओ अंशधारकों में जमा कर दी जाएगी.