नई दिल्लीः लॉकडाउन के कारण पूरे देश में लोगों की आवाजाही पूरी तरह से बंद है. तमाम लोगों की नौकरी भी छूट गई है. ऐसे में कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने एक नई सेवा शुरू की है. ईपीएफओ ने सभी नियोक्ताओं को अपने डिजिटल हस्ताक्षर ई-मेल के जरिये पंजीकृत करने की अनुमति दे दी है. श्रम मंत्रालय ने बुधवार को यह जानकारी दी. Also Read - Generate UAN Online: अगर आपके पास अभी तक नहीं है UAN तो घर बैठे केवल 5 स्टेप्स में ऐसे करें जेनरेट

अभी नियोक्ताओं की ओर से अधिकृत व्यक्ति को ईपीएफओ के कार्यालय जाकर डिजिटल हस्ताक्षर पंजीकृत कराने होते हैं. श्रम मंत्रालय ने बयान में कहा कि राष्ट्रव्यापी बंद और अन्य अंकुशों की वजह से कंपनियां ठीक से काम नहीं कर पा रही हैं और उन्हें ईपीएफओ पोर्टल पर डिजिटल हस्ताक्षर या आधार आधारित ई-हस्ताक्षर का इस्तेमाल करने में परेशानी हो रही है. Also Read - कोरोना काल में EPF से निकालने जा रहे हैं पैसा तो इन सवालों के जवाब तो जान लीजिए...

नियोक्ता की ओर से अधिकृत व्यक्ति कई महत्वपूर्ण कार्य मसलन अपने ग्राहक को जानें (केवाईसी) प्रमाणन, स्थानांतरण दावे के प्रमाणन आदि अपने डिजिटल हस्ताक्षर (डीएससी) या आधार आधारित ई-हस्ताक्षर का इस्तेमाल करते हैं. डीएससी-ई हस्ताक्षर के इस्तेमाल के लिए ईपीएफओ के क्षेत्रीय कार्यालय से एक बार मंजूरी लेनी होती है. Also Read - EPFO/UAN Mobile Number Update: Epfo में कुछ यूं बदले मोबाइल नंबर, फिर पैसे निकालने होंगे आसान

बयान में कहा गया है कि बंद की वजह से पैदा हुई परिस्थितियों के मद्देनजर नियोक्ताओं को क्षेत्रीय कार्यालयों में एकबारगी पंजीकरण आग्रह भेजने में दिक्कत आ रही है. मंत्रालय ने कहा कि इस स्थिति को देखते हुए और अनुपालन की प्रक्रिया और सुगम करने के लिए ईपीएफओ ने इस तरह के आग्रह ई-मेल के जरिये भी स्वीकार करने का फैसला किया है.

(इनपुट भाषा)