नई दिल्ली. कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के केंद्रीय न्यासी बोर्ड की बैठक 23 नवंबर को होगी जिसमें मौजूदा वित्त वर्ष के लिए भविष्य निधि जमाओं की ब्याज दर का फैसला हो सकता है. एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने बताया कि 2017-18 के लिए भविष्य निधि जमाओं पर देय ब्याज दर को मंजूरी के लिए न्यासी मंडल के समक्ष रखा जा सकता है.

GST Council Meeting: Only 50 items out of 227 in highest slab; 177 items to become cheaper | बड़ी राहत: 177 चीजों पर जीएसटी घटाकर 18 फीसदी की गई, अब 50 चीजों पर ही 28 फीसदी जीएसटी

GST Council Meeting: Only 50 items out of 227 in highest slab; 177 items to become cheaper | बड़ी राहत: 177 चीजों पर जीएसटी घटाकर 18 फीसदी की गई, अब 50 चीजों पर ही 28 फीसदी जीएसटी

ईपीएफओ के 4.5 करोड़ से अधिक अंशधारक हैं. पिछले साल दिसंबर में न्यासी मंडल ने 2016-17 के लिए ईपीएफ ब्यज दर को घटाकर 8.65 प्रतिशत करने का फैसला किया जो कि 2015-16 के लिए 8.8 प्रतिशत थी. अधिकारी ने कहा कि ईटीएफ निवेश में अंशधारक के हिस्से को उनके सम्बद्ध खातों में डालने के प्रस्ताव पर भी बैठक में विचार किया जा सकता है.

इस साल न्यासी मंडल की बैठक में यह मुद्दा एजेंडे में था और इसे नियंत्रक व महालेखा परीक्षक के पास भेजा गया. कैग ने प्रस्ताव पर सैद्धांतिक मंजूरी दी है लेकिन कुछ स्पष्टीकरण मांगे थे. एक अनुमान के अनुसार एक्सचेंज ट्रेडेट फंड ईटीएफ में ईपीएफओ का निवेश मौजूदा वित्त वर्ष के आखिर तक बढ़कर 45000 करोड़ रुपये हो सकता है.