ESIC Scheme: देश में कोरोना की दूसरी लहर काफी भयावह हो चुकी है. अस्पतालों में जगह ही नहीं बची हैं कि नए मरीजों को भर्ती किया जा सके. लोग अस्पतालों के बाहर ही दम तोड़ दे रहे हैं. देश में ऑक्सीजन की भारी किल्लत बनी हुई है. गांव से लेकर शहरों तक कोरोना का कहर इस कदर जारी है कि लोगों यह लग रहा है कि जान बचना मुश्किल हो जाएगा. चारोंतरफ अव्यवस्था का मंजर देखा जा रहा है.Also Read - ESIC SSO Admit Card 2022: इएसआईसी एसएसओ भर्ती परीक्षा का एडमिट कार्ड हुआ जारी, ऐसे करें डाउनलोड

ऐसे माहौल में, कोरोना के अलावा जो लोग सामान्य बीमारी से जूझ रहे हैं उनको इलाज कराने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. फिलहाल, कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) में भी काफी दिक्कतें देखी जा रही हैं. हालांकि, कर्मचारी राज्य बीमा निगम ने लाभार्थियों एमर्जेंसी मामलों में स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ लेने के लिए किसी भी नजदीकी अस्पताल में इलाज कराने के लिए आदेश जारी कर दिया है. Also Read - ESIC की योजना से जनवरी में जुड़े 12.84 लाख नये अंशधारक, दिसंबर में बने थे15.34 लाख नए सदस्य

पहला नियमः पहले किसी भी ईएसआईसी लाभार्थी या उसके परिवार के सदस्य को ईएसआईसी के अस्पताल या उन अस्पतालों के पैनल में इलाज कराने की सुविधा मिलती थी जो उसके पैनल में होते थे. जहां पर उसको रेफर किया जाता था. कहने का तात्पर्य यह है कि अब एमर्जेंसी की स्थिति में आप किसी भी नजदीकी अस्पताल में जाकर इलाज करा सकते हैं. Also Read - ESIC Admit Card 2022: UDC और स्टेनोग्राफर के पद पर आयोजित परीक्षा का एडमिट कार्ड जारी, ऐसे करें डाउनलोड

यह निर्णय उन बीमारियों के लिए लिया गया है जो काफी घातक होती हैं, जैसे – हार्ट अटैक आदि. हार्ट अटैक के मामले में तुरंत इलाज की आवश्यकता होती है. इस बीमारी के लिए इलाज के लिए रोगी को निजी अस्पताल में इलाज कराने की अनुमति दी गई है. लेकिन इसके लिए बाद में क्लेम करके खर्च वापस लिया जा सकता है.

इसके इलाज पर आने वाला खर्च केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए मेडिकल खर्च के नियमों के मुताबिक देय होता है. इसके साथ, ईएसआईसी के पैनल के अस्पतालों में शामिल अस्पतालों में कैशलेस इलाज की सुविधा मिलती है.

दूसरा नियमः अब ईएसआईसी में बीमित महिला को बीमा लाभ भी मिलेगा. हाल ही में सरकार द्वारा बनाए गए नियमों को थोड़ा सुलभ किया गया है. ईएसआईसी ने बीमित महिलाओं के मामले में नियमों में थोड़ा ढील दी है. ईएसआईसी ने हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम के तहत और अधिक अस्पतालों की स्थापना के बात कही है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को इलाज मिल सके.

क्या है ईएसआईसी स्कीम?

सामान्यतया कम वेतन पाने वाले कर्मचारियों के लिए श्रम मंत्रालय श्रमिकों को बीमा की सुविधा मुहैया कराता है. जिन्हें सस्ते दर पर या मुफ्त इलाज मिलता है. इसका नाम कर्मचारी राज्य बीमा निगम है. इसका लाभ निजी क्षेत्र की कंपनियों या कारखानों में काम करने वाले लोगों को मिलता है. यह सुविधा कम वेतन पाने वाले लोगों के लिए है.