Export Insurance Cover: निर्यातकों को समर्थन देने के लिए वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) ने निर्यात बीमा कवर को 88,000 करोड़ रुपये तक बढ़ाने के लिए ईसीजीसी (ECGC) में पांच साल तक इक्विटी डालने का प्रस्ताव किया है. मंत्रालय ने एक्सपोर्ट क्रेडिट गारंटी कॉपोर्रेशन (ECGC) में पांच साल की अवधि में इक्विटी डालने की घोषणा की है, ताकि निर्यात बीमा कवर (Export Insurance Cover) को 88 हजार करोड़ रुपये तक बढ़ाया जा सके.Also Read - खर्च में कटौती करने के लिए सरकार की नई पहल, सबसे सस्ती उड़ान के लिए यात्रा से 21 दिन पहले टिकट बुक करें कर्मचारी

निर्यात ऋण गारंटी निगम (ECGC) ऋण बीमा सेवाएं प्रदान करके निर्यात को बढ़ावा देता है. इसके उत्पाद भारत के व्यापारिक निर्यात का लगभग 30 प्रतिशत समर्थन करते हैं. Also Read - EPFO खाताधारकों के लिए बड़ी खुशखबरी, सरकार अकाउंट में भेजेगी 72,000 करोड़ रुपये, ऐसे करें चेक...

सोमवार को मीडिया को संबोधित करते हुए, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि नेशनल एक्सपोर्ट इंश्योरेंस अकाउंट (NEIA) के माध्यम से परियोजना निर्यात के लिए 33,000 करोड़ रुपए का प्रोत्साहन प्रस्तावित है. Also Read - बेरोजगार युवाओं को हर महीने 6,000 रुपये का भत्ता दे रही है केंद्र की मोदी सरकार! आपने भी Apply किया?

कोरोना की दूसरी लहर (Second wave of Corona) के बाद केंद्र सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए सोमवार को दूसरी बार राहत विभिन्न क्षेत्रों के लिए पैकेज का ऐलान किया.

एनईआईए ट्रस्ट (NEIA Trust) जोखिम कवर का विस्तार करके मध्यम और लंबी अवधि (MLT) परियोजना निर्यात को बढ़ावा देता है.

सरकार ने एनईआईए को पांच साल की अवधि में अतिरिक्त कोष प्रदान करने का भी प्रस्ताव किया है, ताकि वह परियोजना निर्यात के अतिरिक्त 33,000 करोड़ रुपये को अंडरराइट कर सके.

31 मार्च, 2021 तक एनईआईए ट्रस्ट ने 63 विभिन्न भारतीय परियोजना निर्यातकों द्वारा 52 देशों में 52,860 करोड़ रुपये की 211 परियोजनाओं का समर्थन किया है.

(With IANS Inputs)