नई दिल्ली. वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि अगर एक बार और सरकार में आए तो होम लोन की ईएमआई को इतना सस्ता कर दिया जाएगा कि लोगों को वह किराए से सस्ता लगने लगेगा. दो महीने में एक बार फिर रेपो रेट कम होने के बाद जेटली ने हिंदुस्तान टाइम्स को दिए इंटरव्यू में ये बात कही.Also Read - Cryptocurrency Bill 2021: कैबिनेट की मंजूरी के बाद संसद में आएगा क्रिप्टो बिल: वित्त मंत्री

जेटली ने कहा, आरबीआई के रेपो रेट कम करने का पूरा फायदा बैंक ब्याज दर कम करके ग्राहकों को पास करेंगे. उन्होंने कहा कि बैंक अपने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लेंडिंग रेट्स (एमसीएलआर) का रिव्यू करेंगे. बता दें कि एमसीएलआर आरबीआई की वह पॉलिसी है, जिससे बैंक लोने के लिए ब्याज दर निर्धारित करते हैं. वित्तमंत्री ने कहा, हमें बैंकों के फैसले का इंतजार करना होगा. Also Read - Bitcoin: लोकसभा में वित्तमंत्री ने दिया लिखित जवाब, बिटक्वॉइन को करेंसी माने जाने के लिए कोई प्रस्ताव नहीं

अटल सरकार का किया जिक्र
इस इंटरव्यू में जेटली ने कहा, अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में होम लोन इतना सस्ता था कि ईएमआई की लागत घर के किराए की तुलना में कम थी. जेटली ने कहा कि उन्हें इस बात की खुशी है किआरबीआई गवर्नर ने कहा कि वह बैंकों के साथ परामर्श कर बदलाव की पॉलिसी लेकर आएं हैं. Also Read - सोमवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों और वित्त मंत्रियों के साथ बैठक करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए क्या है मामला?