नई दिल्ली: फोर्ड इंडिया ने शुक्रवार को कहा कि वह एसयूवी इकोस्पोर्ट कार की 5,397 इकाइयां बाजार से वापस मंगा रही है, ताकि उनके कुछ कलपुर्जों को ठीक किया जा सके. कंपनी के बयान में कहा गया है कि इस गाड़ी में आगे की सीटों के रिक्लाइनर लॉक सहित एक अन्य कलपुर्जे में दिक्कत है. फोर्ड ने प्रेस को जारी अपने एक बयान में कहा कि कंपनी के चेन्नई संयंत्र में 5397 ईकोस्पोर्ट कारों को वापस बुलाया जाएगा.

फोर्ड इंडिया के अनुसार उसके चेन्नई कारखाने में मई 2017 और जून 2017 के दौरान बनी 4,379 तथा नवंबर – दिसंबर 2017 में बनी 1018 इकोस्पोर्ट में कुछ खामी रह गई हैं. कंपनी इनके मालिकों को सूचित कर रही है. कंपनी इनकी जांच और मरम्मत का काम स्वैच्छिक आधार पर कर रही है.

मई 2017 और जून 2017 के बीच निर्मित 4379 कारों का निरीक्षण किया जाएगा, इनमें से कुछ वाहनों पर वेल्ड की मजबूती फोर्ड के मानकों से नीचे हो सकती है. हालाकि, ऐसे मामले रेयर होते हैं और अगर ऐसा हुआ तो स्टीयरिंग के कंट्रोल को प्रभावित कर सकते हैं. वहीं, ड्राइवर और फ्रंट यात्री सीट रेक्लिनेर लॉक की जांच के लिए नवंबर 2017 और दिसंबर 2017 के बीच निर्मित 1018 इकोस्पोर्ट कारों को बुलाया जाएगा.

कंपनी का ये स्वैच्छिक निरीक्षण अपने ग्राहकों को विश्व स्तरीय गुणवत्ता वाले वाहन वितरित करने के वादे के अनुरूप है. बता दें कि जून 2017 के मुकाबले जून 2018 के महीने में फोर्ड इंडिया के संयुक्त घरेलू थोक व्यापार और निर्यात 18,830 इकाई की तुलना में 20,828 वाहन रहा है.

जून में घरेलू परिचालन में पिछले साल की समान अवधि में 6,14 9 इकाइयों की तुलना में 8,444 वाहनों के साथ 37% की वृद्धि दर्ज की गई, जिसमें कंपनी 10 लाख ईकाई घरेलू बाजार में बेच सकी है. दूसरी तरफ जून 2017 में 10,386 वाहन के मुकाबले 14,64 9 इकाइयों का निर्यात दर्ज हुआ. (इनपुट- एजेंसी)