रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचने के बाद गत 18 जून, 2021 को समाप्त सप्ताह में देश का विदेशी मुद्रा भंडार 4.14 अरब डॉलर घटकर 603.93 अरब डॉलर के स्तर पर आ गया.Also Read - पाकिस्तान के सहायता पैकेज को नहीं बहाल करेगा IMF, रखी सख्त शर्तें

इससे पूर्व 11 जून, 2021 को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 3.074 अरब डॉलर बढ़कर 608.081 अरब डॉलर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया था. Also Read - वैश्विक आर्थिक मंदी की संभावना नहीं, लेकिन पूरी तरह परिदृश्य से बाहर भी नहीं: आईएमएफ

भारतीय रिजर्व बैंक के शुक्रवार को जारी साप्ताहिक आंकड़ों के अनुसार 18 जून को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार में गिरावट का कारण विदेशी मुद्रा आस्तियों में गिरावट रहा. यह कुल मुद्रा भंडार का महत्वपूर्ण हिस्सा होता है. Also Read - Crypto Utopia: फिर चर्चा के केंद्र में Bitcoin, इस देश में बनेगी बिटकॉइन सिटी, राष्ट्रपति ने किया लेआउट का अनावरण

आंकड़ों के अनुसार, विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियां आलोच्य सप्ताह के दौरान 1.918 अरब डॉलर गिरकर 561.540 अरब डॉलर रह गईं.

विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियां डॉलर में व्यक्त की जाती हैं पर इसमें डॉलर के अलावा यूरो, पाउंड और येन में होने वाले उतार- चढ़ाव का भी समायोजन किया गया है.

पिछले सप्ताह में 49 करोड़ डॉलर की वृद्धि के बाद स्वर्ण भंडार भी आलोच्य सप्ताह के दौरान 2.170 अरब डॉलर घटकर 35.931 अरब डॉलर रह गया.

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) में विशेष आहरण अधिकार (SDR) 1.4 करोड़ डॉलर घटकर 1.499 अरब डॉलर रह गया. वहीं, आईएमएफ के पास देश का आरक्षित भंडार भी 4.6 करोड़ डॉलर कम हो कर 4.965 अरब डॉलर रह गया.

(भाषा)