FPI: विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPI) ने जुलाई में भारतीय शेयर बाजारों से 11,308 करोड़ रुपये का कुल निवेश निकाला. विश्लेषकों ने कहा कि, कई देशों में कोविड-19 के बढ़ते मामलों की चिंताओं के बीच निवेशक सतर्क हो गए और तेल की ऊंची कीमतों का भी निवेशकों की धारणा पर असर पड़ा.Also Read - India's Forex Reserves: भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 1.34 अरब डॉलर घटकर 641.113 अरब डॉलर पर, जानिए क्यों आई कमी

जून में शुद्ध एफपीआई निवेश 17,215 करोड़ रुपये होने के बाद आउटफ्लो आता है. Also Read - Foreign Portfolio Investors: एफपीआई का सितंबर में अब तक 7,575 करोड़ रुपये का निवेश

पिछले महीने आउटफ्लो के बाद, 2021 में इक्विटी सेगमेंट में शुद्ध निवेश 49,036 करोड़ रुपये रहा. Also Read - HDFC Bank Credit Card: एचडीएफसी बैंक का लक्ष्य 3-4 तिमाही में क्रेडिट कार्ड बाजार में हिस्सेदारी हासिल करने में सक्षम बनाना

शुक्रवार को बीएसई सेंसेक्स अपने पिछले बंद 52,653.07 अंक से 66.23 अंक या 0.13 प्रतिशत की गिरावट के साथ 52,586.84 पर बंद हुआ था.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 50 अपने पिछले बंद से 15.40 अंक या 0.1 प्रतिशत की गिरावट के साथ 15,763.05 पर बंद हुआ.

विश्लेषकों के अनुसार, आगामी मौद्रिक नीति समीक्षा के साथ-साथ चल रहे वित्तीय परिणामों का मौसम आने वाले सप्ताह में प्रमुख इक्विटी सूचकांकों की गति को प्रभावित करेगा.

(With IANS Inputs)