नई दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय बाजार में पिछले दिनों कच्चे तेल में आई तेजी के बाद देश में पेट्रोल और डीजल के दाम में फिर रोजाना
वृद्धि होने लगी है. तेल कंपनियों ने लगातार चौथे दिन रविवार को तेल के दाम में वृद्धि जारी रखी. देश की राजधानी दिल्ली में चार
दिनों में पेट्रोल 32 पैसे प्रति लीटर महंगा हो गया है और डीजल का दाम भी इन तीन दिनों में 29 पैसे प्रति लीटर बढ़ गया है.

दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल फिर नौ पैसे प्रति लीटर महंगा हो गया है और डीजल के भाव में दिल्ली, कोलकाता
और मुंबई में आठ पैसे, जबकि चेन्नई में नौ पैसे प्रति लीटर का इजाफा हुआ है.

इंडियन ऑयल की बेवसाइट के अनुसार रविवार को पेट्रोल के दाम बढ़कर चार बड़े शहरों में कुछ इस तरह रहे –
पेट्रोल का भाव
शहर        रुपए प्रति लीटर
दिल्ली           70.37 रुपए
कोलकता       72.63 रुपए
मुंबई             76.06 रुपए
चेन्नई               73.10 रुपए

चारों महानगरों में डीजल के दाम भी बढ़कर इस भाव पर

डीजल का भाव
शहर रुपए प्रति लीटर
दिल्‍ली 64.19 रुपए
कोलकाता 66.11 रुपए
मुंबई 67.30 रुपए
चेन्‍नई 67.90 रुपए

पिछले दिनों अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का दाम बढ़ने के कारण पेट्रोल और डीजल के भाव बढ़ रहे हैं, क्योंकि भारत अपनी तेल
की जरूरतों का तकरीबन 84 फीसदी हिस्सा आयात करता है. लिहाजा, अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल महंगा होता है तो , भारत में
पेट्रोल और डीजल समेत तमाम पेट्रोलियम उत्पाद महंगे हो जाते हैं.

अंतराष्‍ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव में हालांकि बीते सप्ताह के आखिरी सत्र में नरमी दर्ज की गई, मगर उससे पहले जबरदस्त
तेजी देखने को मिली, जिससे सप्ताह के दौरान ब्रेंट क्रूड में तीन फीसदी से ज्यादा का उछाल आया. बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड का
भाव जून के पहले पखवाड़े में 60-63 डॉलर प्रति बैरल के सीमित दायरे में रहा, लेकिन दूसरे पखवाड़े में भाव 67 डॉलर प्रति बैरल के
करीब पहुंच गया. ब्रेंट क्रूड का भाव 60.25 डॉलर से लेकर 66.85 डॉलर प्रति बैरल के बीच रहा.

ऊर्जा विशेषज्ञ बताते हैं कि पेट्रोल और डीजल के दाम में अभी और वृद्धि देखने को मिल सकती है क्योंकि खाड़ी क्षेत्र में जारी तनाव
और अमेरिका-चीन व्यापारिक तनाव कम होने से आगे कच्चे तेल के भाव में फिर तेजी आने की संभावना है.