Indian Economy News: भारतीय अर्थव्यवस्था मंदी से उबर गई है. देश की अर्थव्यवस्था ने वित्त वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर) में 0.4 फीसदी की विकास दर (GDP Growth Rate) हासिल की है. राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) की तरफ से शुक्रवार को जारी आंकड़े में यह जानकारी दी गई है. इससे पहले वित्त वर्ष 2019-20 की इसी तिमाही में अर्थव्यवस्था में 3.3 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी. Also Read - अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने भारत की अर्थव्यवस्था पर जताई उम्मीद, पटरी पर लौट रही है इंडियन इकोनॉमी

एनएसओ के राष्ट्रीय लेखा के दूसरे अग्रिम अनुमान में 2020-21 में सकल घरेलू उत्पाद (GDP) में 8 प्रतिशत की गिरावट का अनुमान जताया गया है. जनवरी में एनएसओ ने चालू वित्त वर्ष 2020-21 में अर्थव्यवस्था में 7.7 प्रतिशत की गिरावट का अनुमान जताया था. एक साल पहले 2019-20 में जीडीपी में 4 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी. Also Read - One Year of Lockdown in India: कोराना काल का एक साल : उद्योग-धंधे रहे बेहाल, MSME का हो गया बुरा हाल

कोरोना वायरस महामारी और उसकी रोकथाम के लिये लगाये गये Lockdown के कारण चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में अर्थव्यवस्था में 24.4 प्रतिशत की गिरावट आयी थी. वहीं दूसरी तिमाही जुलाई-सितंबर में GDP में 7.3 प्रतिशत की गिरावट देखने को मिली थी. Also Read - Recovery In Indian Economy: पटरी पर लौट रही थी अर्थव्यवस्था, ये 4 कारक आर्थिक सुधार में बन रहे हैं बाधा

उधर, चीन की अर्थव्यवस्था में अक्टूबर-दिसंबर, 2020 में 6.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी. वहीं जुलाई-सितंबर में वृद्धि दर 4.9 प्रतिशत रही थी.

(इनपुट: भाषा)