Gold Investment In India: भारतीयों का सोने के प्रति लगाव किसी से छिपा नहीं है. शादी विवाह से लेकर हर शुभ अवसर पर भारतीय सोना खरीदते हैं. लेकिन इस वक्त सोने के भाव (Gold Rate In India) में भारी तेजी है. खुदरा बाजार में सोना (Gold Rate in Retail Market) 50 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर तक पहुंच गया है. ऐसे में सवाल उठ रहा है कि क्या इस वक्त सोना खरीदना चाहिए? Also Read - Gold Price 31 July 2020 Today: 53 हजार के पार पहुंचा सोना, इतने रुपए की भारी बढ़ोतरी, जानें अपने मार्केट का रेट

इंडिया बुलियन और ज्वैलर्स एसोसिएशन के मुताबिक आज 10 ग्राम 24 कैरट सोना खुदरा बाजार (Gold Price Today 6 June 2020) में 48283 रुपये के भाव से बिक रहा है. विशेषज्ञों का कहना है कि एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में इस समय सोने के भाव में 45 फीसदी की तेजी आ चुकी है. Also Read - Gold Rate Today 29 July 2020: सात दिनों की तेजी के बाद लुढ़का सोना, फेस्टिवल में खरीदारी का है बेहतर मौका

दरअसल, भारत में सोने की खरीद मुख्य तौर पर जरूरतों को पूरा करने लिए की जाती है. यहां निवेश के उद्देश्य से सोना अब भी बहुत कम खरीदा जाता है. ऐसे में सोना खरीदने के उचित समय को लेकर बहस यहीं खत्म हो जाता है. क्योंकि अगर किसी व्यक्ति के घर में शादी है तो वह किसी भी भाव में अपनी जरूरत के हिसाब से जरूर सोना खरीदेगा. Also Read - Gold Rate Today 27 July 2020: सोने की महंगाई ने सारा रिकॉर्ड तोड़ा, जानिए आपके शहर में कितना है भाव

68 हजार के भाव को छू सकता है सोना

फाइनेशियल एक्सप्रेस में छपी एक रिपोर्ट में मोतीलाल ओसवाल फानेंशियल सर्विसेज के रिसर्चर नवनीत दमानी ने कहा कि सोने के भाव में जो मौजूदा तेजी है उसके पीछे कई कारण हैं. इसमें सबसे प्रमुख कारण प्रमुख देशों के केंद्रीय बैंकों द्वारा ब्याज दरों को शून्य फीसदी पर ला देना है. इतना ही नहीं ये बैंक बाजार में तरलता पर कड़ी निगरानी रख रहे हैं. इन सभी चीजों का अर्थव्यवस्था पर नकारात्मक असर पड़ता है और इस कारण सोने में लोगों का भरोसा बढ़ा है.

दमानी का कहना है कि इस साल के अंत तक सोना 53 हजार के भाव तक पहुंच सकता है. अगले साल 2021 में भी कुछ ऐसा ही ट्रेंड देखने को मिल सकता है. उनका कहना है कि अगले साल के अंत तक सोना 68 हजार के भाव को छू सकता है. सोने के भाव में 30 फीसदी वार्षिक रिटर्न के आधार ये अनुमान लगाया जा रहा है.

दमानी का कहना है कि ऐसा दुनिया की अर्थव्यवस्था में लंबे समय तक चलने वाली सुस्ती और उसके बाद रिकवरी में संभावित तेजी की वजह से होगा.

क्या इस वक्त सोना में निवेश करना चाहिए? (is it right time to purchase gold)

बाजार विशेषज्ञों के मुताबिक भारतीयों के लिए सोना खरीदने का कोई अच्छा या बुरा समय नहीं होता है, क्योंकि यहां सोने की खरीद जरूरत के हिसाब से की जाती है. शादी-विवाह, धार्मिक कार्यक्रम और अन्य शुभ अवसर पर सोने की खरीद उसके भाव को देखकर नहीं की जाती है. बाजार विशेषज्ञों के मुताबिक इस साल के पहले छह माह में सोने के भाव में 10 फीसदी से अधिक का रिटर्न मिल चुका है. ऐसे में सोना आपके इंवेस्टमेंट पोर्टफोलियो का हिस्सा होना चाहिए.

जहां तक निवेश के हिसाब से सोना खरीदने की बात है तो निश्चित तौर पर आपको उचित समय में कदम बढ़ाना चाहिए, क्योंकि इस वक्त दुनिया की अर्थव्यवस्था की स्थिति बेहद खराब है.