Gold Price Today: इस हफ्ते सोने की कीमत में 488 रुपये की तेजी देखने को मिली. एमसीएक्स (MCX) पर फरवरी डिलीवरी वाला सोना पिछले हफ्ते शुक्रवार को 48702 रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव पर बंद हुआ था तो वहीं इस हफ्ते शुक्रवार को यह 258 रुपये की गिरावट का साथ 49190 रुपये के भाव पर बंद हुआ. इस हफ्ते लगातार चार दिन सोने की कीमतों में तेजी आई लेकिन शुक्रवार को यह गिरावट के साथ बंद हुआ.Also Read - Sovereign Gold Bond: सस्ते में सोना खरीदने का आखिरी मौका, आज बंद हो जाएगा सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड का सब्सक्रिप्शन

जानकारों का कहना है कि ईजी मनी पॉलिसी, कमजोर डॉलर और संक्रमण के बढ़ते मामलों से आने वाले दिनों में सोने की कीमतों (Rate of Gold) में तेजी आएगी. अगले एक महीने में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सोने का स्पॉट प्राइस 1920 डॉलर प्रति औंस तक पहुंच सकता है जबकि MCX पर यह 50400 रुपये प्रति 10 ग्राम के रेट तक पहुंच सकता है. अभी इंटरनैशनल मार्केट में यह 1,862.30 डॉलर प्रति औंस चल रहा है. Also Read - Gold Rate Today, 10 January 2022 : रिकॉर्ड हाई से 8,800 रुपये सस्ते में मिल रहा है सोना, खरीदारी करने का शानदार मौका

डॉलर और सोने की कीमत का आपस में है संबंध, जानिए Also Read - Gold Rate Today: फिर बढ़ती जा रही है सोने की चमक, आज फिर बढ़े दाम, जानिए 10 ग्राम 22ct-24ct गोल्ड का रेट

डॉलर की कीमत में गिरावट और सोने की कीमत का आपस में संबंध है. अगर डॉलर और गिरता है तो आने वाले महीनों में सोने की कीमत में तेजी आएगी. इसके उलट अगर डॉलर मजबूत होता है तो सोने में गिरावट आएगी. जनवरी में डॉलर 1.4 फीसदी मजबूत हुआ है जिससे जनवरी में सोने की कीमत 3 फीसदी गिर चुकी है.

बीते साल सोने ने बनाया था नया रिकॉर्ड

बीते साल सोने की कीमत करीब 28 फीसदी तक बढ़ी. अगस्त के महीने में तो सोने-चांदी ने एक नया रिकॉर्ड ही बना दिया था और अपना ऑल टाइम हाई का स्तर छू लिया था. ऐसा नहीं है कि सिर्फ भारत में ही सोने की कीमत बढ़ी. वैश्विक बाजार में भी सोना करीब 23 फीसदी महंगा हुआ. इससे पहले 2019 में भी सोने के दाम में बढ़ोतरी की दर डबल डिजिट में थी.

इस साल भी बढ़ेंगे सोने के दाम

वैसे अभी गोल्ड स्पॉट 1900 डॉलर प्रति औंस के आसपास है. इस साल यह 1980 डॉलर और फिर 2050 डॉलर तक जा सकती है. इसकी वजह ये है कि दुनियाभर में प्रमुख केंद्रीय बैंकों ने ब्याज दरों में कटौती करके इस लगभग जीरो कर दिया है और कम से कम अगले एक साल तक ये इसी स्तर पर रहेगा. इसके साथ ही मार्केट में लिक्विडिटी मुहैया कराने के लिए भी सेंट्रल बैंक्स आक्रामक रुख दिखा रहे हैं और इन सबका इकॉनमी पर असर होगा और इससे सोने की कीमतों में तेजी आएगी.  दुनियाभर में लिक्विडिटी पुश से सोने की कीमतें बढ़ेंगी. इसीलिए सोने में इनवेस्ट करना आपके लिए फायदेमंद रहेगा.