नई दिल्ली: वैश्विक बाजारों में कमजोरी के रुख के बावजूद आभूषण कारोबारियों की सतत लिवाली से दिल्ली सर्राफा बाजार में मंगलवार को सोने का भाव 200 रुपए के उछाल के साथ 38,770 रुपए प्रति 10 ग्राम के अब तक सर्वोच्च स्तर पर पहुंच गया.
अखिल भारतीय सर्राफा संघ के अनुसार दूसरी ओर औद्योगिक इकाइयों और सिक्का निर्माताओं के कमजोर उठाव के कारण चांदी 1,100 रुपए की गिरावट के साथ 43,900 रुपए प्रति किलोग्राम पर आ गई. अगर आने वाले शादी के सीजन में सोने की घरेलू मांग लगातार बढ़ी तो इसकी कीमत 40 हजार रुपए के पार जाने की उम्‍मीद की जा सकती है.

बाजार सूत्रों ने कहा कि कमजोर वैश्विक रुख के बावजूद स्थानीय आभूषण विक्रेताओं की मांग बढ़ने के कारण घरेलू हाजिर बाजार में इस बहुमूल्य धातु, सोने की कीमतों में उछाल आया. उन्होंने कहा कि रुपया के कमजोर होने से भी सोने की कीमतों में तेजी को मदद मिली.

वैश्विक स्तर पर अंतरराष्ट्रीय बाजार न्यूयॉर्क में सोने का भाव कमजोरी के साथ 1,496.60 डॉलर प्रति औंस रह गया, जबकि चांदी का भाव घटकर 16.93 डॉलर प्रति औंस रह गया.

राष्ट्रीय राजधानी में मंगलवार को 99.9 प्रतिशत और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाला सोना 200 – 200 रुपये की तेजी के साथ क्रमश: 38,770 रुपये और 38,600 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ.

सोने की कीमत, इससे पूर्व शनिवार को 38,670 रुपये प्रति 10 ग्राम के अपने सर्वकालिक उच्च स्तर को छू गया था. आठ ग्राम वाली गिन्नी का भाव हालांकि 200 रुपए की हानि के साथ 28,600 रुपए प्रति आठ ग्राम रह गया.

इस बीच चांदी हाजिर की कीमत 1,100 रुपए की गिरावट के साथ 43,900 रुपये प्रति किलोग्राम रह गई, जबकि चांदी साप्ताहिक डिलिवरी का भाव 113 रुपए के नुकसान के साथ 43,422 रुपए प्रति किलोग्राम पर बंद हुआ. चांदी के सिक्कों के भाव 2,000 रुपए की गिरावट के साथ लिवाल 89,000 रुपए और बिकवाल 90,000 रुपए प्रति सैकड़ा पर बंद हुए.