नई दिल्ली: एक बार फिर सोने और चांदी में सोमवार को जोरदार तेजी आई और सोना लगभग 40 हजार रुपए के पास पहुंच गया है. अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक तनाव गहराने से अंतर्राष्ट्रीय बाजार में विदेशी बाजार से मिले मजबूत संकेतों से घरेलू वायदा बाजार एमसीएक्स पर सोना 39,000 रुपए प्रति 10 ग्राम के मनोवैज्ञानिक स्तर को तोड़ते हुए एक बार फिर नई उंचाई पर चला गया है. मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में अक्टूबर महीने में डिलीवरी वाला सोना 517 रुपए यानी 1.33 प्रतिशत बढ़कर 39,282 रुपए प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया.

मजबूत वैश्विक रुख के साथ सटोरियों के सौदे बढ़ाने से सोमवार को वायदा कारोबार में सोना 1.33 प्रतिशत बढ़कर 39,282 रुपए प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया. इसमें 4,337 लॉट का कारोबार हुआ. इसी प्रकार, दिसंबर डिलीवरी वाला सोना 551 रुपए यानी 1.4 प्रतिशत बढ़कर 39,896 रुपए प्रति दस ग्राम हो गया. इसमें 280 लॉट का कारोबार हुआ.

विश्लेषकों ने कहा कि वैश्विक बाजारों से सकारात्मक रुख के साथ प्रतिभागियों के नए सौदे करने से मुख्यत: वायदा कारोबार में सोने के भाव में तेजी रही. वैश्विक स्तर पर न्यूयॉर्क में सोना 0.92 प्रतिशत बढ़कर 1,551.70 डॉलर प्रति औंस पर रहा.

चांदी के भाव में भी तकरीबन डेढ़ फीसदी की तेजी आई है. वहीं, चांदी के सितंबर महीने के अनुबंध में 659 रुपए यानी 1.48 फीसदी की तेजी के साथ 45,261 रुपए प्रति किलो पर कारोबार चल रहा था, जबकि इससे पहले चांदी का भाव 45,278 रुपए प्रति किलो तक उछला.

दूसरी ओर अंतरराष्ट्रीय वायदा बाजार कॉमेक्स पर सोने के दिसंबर अनुबंध में 14.35 डॉलर यानी 0.93 फीसदी की तेजी के साथ 1,551.95 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार चल रहा था, जबकि इससे पहले सोने का भाव कॉमेक्स पर 1,564.95 डॉलर प्रति औंस तक उछला. कॉमेक्स पर सोने का भाव फिर एक बार छह साल बाद की एक नई उंचाई पर है. सोने का भाव कॉमेक्स पर सितंबर 2011 में सबसे ऊंचे स्तर 1,911.60 डॉलर प्रति औंस पर चला गया था.

कॉमेक्स पर चांदी के दिसंबर अनुबंध में 1.18 फीसदी की तेजी के साथ 17.76 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार चल रहा था, जबकि इससे पहले भाव 17.90 डॉलर प्रति औंस तक उछला.

अमेरिका और चीन के बीच नए आयात शुल्क लगाने की घोषणाओं को लेकर ट्रेड वार फिर गहरा गया है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फिर चीन से आयातित 550 अरब डॉलर की वस्तुओं पर पांच फीसदी अतिरिक्त आयात शुल्क लगाने की चेतावनी दी है. इससे पहले चीन ने अमेरिका से आयातित 75 अरब डॉलर की वस्तुओं पर एक सितंबर और 15 दिसंबर से अतिरिक्त आयात शुल्क लगाने की घोषणा की थी.