Good News: कोरोना वायरस की वजह से अचानक आए इस आर्थिक संकट (Economic Crisis) और मुश्किल हालातों के बीच ज्‍यादातर कंपनियां अपने कारोबार को बनाए रखने के लिए या तो कर्मचरियों की छंटनी कर रही हैं या उनके वेतन में कटौती कर पैसे का बचत कर रही हैं. लेकिन एक्‍स‍िस बैंक (Axis Bank) ने अचानक से सैलेरी में बड़ी बढ़ोतरी करके अपने कर्मचारियों की इस मुश्किल घड़ी में मदद की है. त्योहार से पहले कर्मचारियों को मिले इस तोहफे से काफी खुशी मिलेगी. Also Read - इनकम टैक्स रिटर्न भरने में की है कोई गलती तो कर लें सुधार, बस करना होगा ये काम, जानिए

देश के तीसरे सबसे बड़े निजी कर्जदाता एक्सिस बैंक (Axis Bank) ने अपने 76,000 कर्मचरियों के वेतन में बढ़ोतरी करने का फैसला किया है, इतना ही नहीं बैंक त्न्योहारों को लेकर उन्हें बोनस भी दे रहा है. एक्सिस बैंक (Axis Bank) लिमिटेड प्रदर्शन के आधार पर अपने कर्मचारियों के वेतन में 4 से 12 फीसदी तक की बढ़ोतरी कर रहा है और कर्मचारियों के वेतन वृद्धि का ये फैसला 1 अक्‍टूबर 2020 से लागू हो जाएगा. Also Read - पाकिस्तान में गेहूं-चीनी-चिकन को तरसेंगे लोग, सब्जियों के दाम भी छू रहे आसमान, क्या होगा..

बता दें कि इससे पहले आईसीआईसीआई (ICICI Bank Ltd.) और एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank Ltd.) ने भी इसी तरह का फैसला लिया था. एडीएफसी बैंक लिमिटेड ने अप्रैल 2020 में अपने कर्मचारियों को वेतन वृद्धि का तोहफा दिया था तो वहीं आईसीआईसीआई बैंक ने अपने एक लाख कर्मचारियों में से 80 हजार कर्मचारियों को बोनस दिया था और सैलरी बढ़ाई थी. उन बैंकों का यह फैसला जुलाई से लागू हुआ था. Also Read - One Nation, One Ration Card मोबाइल नंबर की तरह ही काम करेगा आपका राशन कार्ड, जानिए कैसे

बता दें कि देश के चौथे सबसे बड़े कर्जदाता कोटक महिंद्रा बैंक लिमिटेड (Kotak Mahindra Bank Ltd.) ने सालाना 25 लाख से ज्यादा वेतन पाने वाले अधिकारियों की सैलरी में 10 प्रतिशत कटौती का फैसला किया है तो इसी प्रकार सीनियर मैनेजमेंट के वेतन में 15 प्रतिशत कटौती करने की भी बात कही है.

बैंकों की रेटिंग एजेंसी एस एंड पी ग्‍लोबल रेटिंग्‍स (S&P Global Ratings) ने जून में एक्सिस बैंक की क्रेडिट रेटिंग घटा दी थी. एजेंसी ने चिंता जताई थी कि वैश्विक महामारी के कारण बैंक की एसेट क्‍वालिटी और मुनाफे पर असर पड़ेगा. इसके साथ ही रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने अनुमान लगाया था कि बैंकों के लिए सीएआर (CAR) 11.8 फीसदी तक लुढ़क सकता है, जो मार्च 2019 में 14.6 फीसदी पर था. इसके बाद भी एक्सिस बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक और आईसीआईसीआई बैंक ने इक्विटी मार्केट (Equity Market) से 9 अरब डॉलर जुटाए और अपने कर्मचारियों को राहत दी है.