नई दिल्ली. सरकार ने वित्त वर्ष 2017-18 के लिए आयकर रिटर्न (आईटीआर) और आडिट रिपोर्ट दाखिल करने की तारीख 15 दिन बढ़ाकर 15 अक्तूबर करने की घोषणा की है. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) को अंशधारकों से यह मांग मिली थी कि ऐसे करदाताओं के लिए जिनके खातों का आडिट किया जाना है, आईटीआर दाखिल करने की तारीख बढ़ाई जाए. Also Read - Income Tax पेयर्स को बड़ी राहत, ITR भरने की डेडलाइन बढ़ी, अब 30 नवंबर तक करें फाइल

सीबीडीटी ने बयान में कहा, ‘संबंधित श्रेणी के करदाताओं के लिए आईटीआर के साथ आडिट रिपोर्ट दाखिल करने की तारीख को 30 सितंबर, 2018 से बढ़ाकर 15 अक्तूबर, 2018 किया जा रहा है. हालांकि, सीबीडीटी ने स्पष्ट किया है कि आयकर कानून, 1961 की धारा 234ए (स्पष्टीकरण एक) के तहत रिटर्न दाखिल करने में चूक पर ब्याज को लेकर कोई तारीख नहीं बढ़ाई गई है. करदाताओं को धारा 234ए के प्रावधानों के तहत ब्याज का भुगतान करना होगा. Also Read - आयकर रिटर्न फॉर्म भरने जा रहे हैं तो दें ध्यान, अब बड़े लेन-देन की...

सीबीडीटी द्वारा इससे पहले जारी आंकड़ों के अनुसार वेतनभोगी करदाताओं तथा अपनी आमदनी का अनुमान लगाकर आईटीआर दाखिल करने वाले करदाताओं की संख्या 31 अगस्त तक 71 प्रतिशत बढ़कर 5.42 करोड़ पर पहुंच गई है. इस श्रेणी के करदाताओं को वित्त वर्ष 2017-18 के लिए अपना आईटीआर पिछले महीने तक दाखिल करना था. Also Read - ITR deadline extended: आयकर रिटर्न भरने की तारीख बढ़ी, ये रहा लास्ट डेट