नई दिल्लीः केंद्र सरकार ने मंगलवार को कहा कि लॉकडाउन के दौरान विभिन्न जनऔषधि केंद्र मरीजों से व्हाट्सएप और ईमेल के जरिए दवाओं के आर्डर स्वीकार कर रहे हैं, ताकि वे आसानी से दवा खरीद सकें. रसायन और उर्वरक मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इस समय देश के 726 जिलों में 6,300 से अधिक प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि केंद्र (पीएमबीजेके) कार्य कर रहे हैं. Also Read - LPG Gas Booking: अब BPCL के ग्राहक Whatsapp Number से भी कर सकते हैं रसोई गैस की बुकिंग, जानें क्या है पूरी प्रक्रिया

रसायन एवं उर्वरक मंत्री डी वी सदानंद गौड़ा ने कहा, ‘‘यह खुशी की बात है कि कई पीएमबीजेके जरूरतमंदों तक आवश्यक दवाएं पहुंचाने के लिए आधुनिक संचार साधनों का उपयोग कर रहे हैं, जिनमें व्हाट्सएप जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म शामिल हैं.’’ Also Read - यूपी के सीएम योगी को बम से उड़ने की धमकी, रात 12 बजे व्हाटसऐप से आया मैसेज

बयान में कहा गया कि अप्रैल 2020 में पूरे देश में लगभग 52 करोड़ रुपये की दवाओं की आपूर्ति की गई. Also Read - E-pass for Lockdown: ई-पास कैसे बनता है व इसके लिए क्या करना पड़ता है, जानें इससे जुड़ी सभी जानकारियां

इसके साथ ही दवाइयों की डिलीवरी के लिए इंडिया पोस्ट के साथ समझौता भी किया गया है.